पीरियड्स-मेनोपॉज जैसी समस्याओं से बचने के लिए महिलाएं जरुर करें ये 3 आसन

punjabkesari.in Monday, Jun 27, 2022 - 10:40 AM (IST)

योग एक ऐसी पद्धति है जो कई सिर्फ बीमारियां ही नहीं, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही फायदेमंद होता है। आजकल के गलत खान-पान और लाइफस्टाइल के कारण महिलाओं को मेनोपॉज, अनियमित पीरियड्स, बढ़ते वजन जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, जिससे उनके स्वास्थ्य पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ रहा है। आप रुटीन में कुछ योगाभ्यास करके खुद को फिट रख सकते हैं। इन 3 योगासनों के जरिए आप बढ़ते वजन और पीरियड्स संबंधी समस्याओं से राहत पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में...

मार्जरी आसन 

मार्जरी आसन को करने से आपकी रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है। साथ ही पीरियड्स में होने वाले दर्द और ऐंठन से भी राहत मिलती है। इस आसन को करने से नींद भी बहुत अच्छी आती है।

PunjabKesari

कैसे करें मार्जरी आसन? 

. सबसे पहले योगा मैट पर घुटनों के बल लेट जाएं। 
. इसके बाद अपने दोनों हाथों को फर्श पर आगे की ओर टिका लें। 
. फिर सांस भरते हुए अपने पेट को नीचे की ओर धकेलें। अपनी गर्दन को सीधे छत की ओर उठाएं। 
. कुछ सैकेंड इसी स्थिति में रहें और फिर अपनी रीढ़ की हड्डी को उठाकर कैट पोज में आ जाएं अपनी टेलबोन की सिकुड़े और अपनी ठुड्डी को अपनी छाती पर रखें। 
. 15-20 सैकेंड इसी स्थिति में रहें और फिर सामान्य स्थिति में वापस आ जाएंं। 

वीरभद्रासन 

वीरभद्रासन करने से हाथ, पीठ और जांघ की मांसपेशियां मजबूत और एक्टिव होती हैं। इस आसन को करने से आपके पेट पर खिंचाव पड़ता है, जिससे पेट की चर्बी कम होती है और अंदरुनी अंगों की मालिश होती है। 

PunjabKesari

कैसे करें वीरभद्रासन? 

. सबसे पहले अपने दोनों पैरों को एक मीटर की दूरी पर रखें और अपने हाथों को सामने की ओर रखकर सीधे खड़े हो जाएं। 
. इसके बाद अपने दाहिने पैर को दाहिनी और मोड़ें और अपने हाथों को कंधे के लेवल तक  उठा लें। दाहिने घुटने को लंज पॉजिशन में मोड़ें और अपने बाएं पैर को सीधा रखें। 
. अपनी क्षमता के अनुसार ऐसी ही स्थिति में बने रहें और फिर आरामदायक अवस्था में आ जाएं। 
. फिर दोबारा से दोनों पैरों को दूरी बनाकर खड़े हो जाएं और अपने हाथों को सामने की ओर रखकर सीधे खड़े हो जाएं। 
. इसके बाद अपने बाहिने पैर को बाहिनी और मोड़ें और हाथों को कंधे के लेवल तक उठाएं। बाहिने घुटने को लंज पॉजिशन में मोड़ लें। अपने बाएं पैर को सीधे रख लें। 
. अपनी क्षमता के अनुसार ऐसी ही स्थिति में बने रहें और फिर आरामदायक अवस्था में आ जाएं। 

नवासन 

इसे बोट पॉज भी कहते हैं। इस आसन को करने से पेट और हिप्स की अतिरिक्त चर्बी कम होती है। साथ ही चर्बी स्ट्रॉग भी होती है। इसके अलावा किडनी थायराइड और प्रोटेस्टिव ग्लेंड्स एक्टिव होते हैं। 

PunjabKesari

कैसे करें नवासन? 

. सबसे पहले फर्श पर पीठ के बल लेट जाएं । 
. फिर अपने हाथ को अपनी तरफ और पैरों को एकसाथ मिलाकर रखें।  
. बिना झुके हुए अपने पैरों को धीरे-धीरे ऊपर उठाने का प्रयास करें। 
. इसके बाद अपने शरीर को ऊपरी हिस्से और फर्श से उठा लें और अपनी बाहों को पैरों की ओर फैला लें। 
. 15-20 सैकेंड के लिए ऐसी ही पैपरों को होल्ड करें। 
. फिर इसके बाद आरामदायक स्थिति में आ जाएं। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

palak

Related News

Recommended News

static