बारिश में पीरियड दौरान अपनाएं ये टिप्स, इंफेक्शन का खतरा होगा कम

2021-07-28T13:50:49.167

महावारी यानि पीरियड्स से लड़कियों व महिलाओं को हर महीने गुजरना पड़ता है। वहीं हैल्दी रहने के लिए इस समय लड़कियों को साफ-सफाई का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। वहीं मानसून में तो इंफेक्शन का खतरा बहुत ही बढ़ जाता है। ऐसे में इस दौरान साफ-सफाई में बिल्कुल भी लापरवाही नहीं बर्तनी चाहिए। नहीं तो यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन और वेजाइनल इन्फेक्श की समस्या हो सकती है।

चलिए आज हम आपको मानसून में पीरियड्स के दौरान बर्तने वाली सावधानियों के बारे में बताते हैं...


लंबे समय तक एक ही नैपकिन यूज करने से बचें

कई लड़कियां ज्यादा देर तक एक ही नैपकिन यूज करती है। मगर इसे 5-6 घंटे में बदल लेना चाहिए। वहीं मानसून में इंफेक्शन के खतरे से बचने के लिए इसे 3-4 घंटे में बदलें।

PunjabKesari

सफाई का रखें ध्यान

पीरियड्स के दिनों में प्राइवेट पार्ट में गीलापन अधिक महसूस होता है। बारिश के कारण मौसम में भी नमी रहती है। वहीं कई लड़कियां वॉशरूम यूज करने के बाद प्राइवेट पार्ट को सुखाती नहीं है। इसके कारण गीलापन रहने के साथ इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ता है। इससे बचने के लिए वॉशरूम यूज करने के बाद पर उस एरिया को टिश्यू पेपर से साफ करें।

साबुन इस्तेमाल करने से बचें

कई महिलाएं पीरियड के दिनों में भी प्राइवेट पार्ट को साबुन से साफ करती है। मगर इससे नेचुरल पीएच लेवल खराब होने लगता है। इससे इंफेक्शन होने का खतरा अधिक रहता है। इसलिए इन दिनों में खासतौर पर इंटिमेट वॉश यूज करें। यह आपको बाजार में आसानी से मिल जाएगा।

गुनगुने पानी से करें सफाई

पीरियड्स के दिनों में सोने से पहले प्राइवेट पार्ट को गुनगुने पानी से साफ करें। फिर पेपर नैपकिन से इसे सुखाकर ही पैड रखें।

PunjabKesari

पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल करने बचें

पीरियड्स दौरान पब्लिक टॉयलेट इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। अगर आपको इसे यूज करने की जरूरत हो तो पहले सैनेटाइजर या टॉयलेट स्प्रे यूज करें। इसके साथ ही टॉयलेट यूज करने से पहले फ्लश जरूर चलाएं।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

neetu

Recommended News

static