शारदीय नवरात्रि: भूलकर भी दुर्गा मां को ना चढ़ाएं ये चीजें,  माता रानी हो जाती है नाराज

punjabkesari.in Monday, Sep 26, 2022 - 11:51 AM (IST)

शारदीय नवरात्रि का पावन पर्व आज से शुरू हो गया है। इन नौ दिनों में दुर्गा मां के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि में मां दुर्गा धरती पर अपने भक्तों के कष्टों को दूर करने के लिए आती हैं। मान्यता है कि इन शुभ दिनों में कुछ खास काम व उपाय करने से देवी मां की असीम कृपा मिलती है।  मगर, कुछ ऐसी चीजें भी हैं जिन्हें मां दुर्गा नपसंद करती हैं। ऐसे में भूलकर भी ये चीजें मां को नहीं चढ़ाएं नहीं तो इसका नुकसान झेलना पड़ सकता है। 

PunjabKesari

इन फूलों से बना लें दूरी

देवी दुर्गा को कुछ फूल जैसे दूब, मदार, हरसिंगार, बेल और तगर चढ़ाने से बचें। इसके अलावा देवी को चंपा और कमल के अलावा किसी भी फूल की कली नहीं चढ़ानी चाहिए।


घर में ना रखें अंधेरा

अगर आप नवरात्रि के दौरान अखंड ज्योति जलाते हैं तो ध्यान रखें कि यह हर समय जलती रहे। साथ ही इस दौरान घर में अंधेरा ना होने दें और ना ही घर को बंद करें।


 टूटा हुआ नारियल और लोंग

कलश स्थापना के लिए टूटे हुए नारियल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसी तरह  टूटी हुई लौंग भी अशुभ मानी जाती है।  इससे पूजा का फल नहीं मिलता।


टूटा हुआ चावल

अक्षत यानि चावल को देवी-देवताओं को अर्पित करना शुभ माना जाता है लेकिन कभी भी मां दुर्गा को टूटा हुआ चावल अर्पित ना करें। इससे मां नाराज हो सकती है।

PunjabKesari
इन चीजों से माता को करें प्रसन्न 

भोग लगाएं

नवरात्रि दौरान रोजाना माता रानी को 7 इलायची और मिश्री का भोग लगाएं। माना जाता है कि इससे सुख और वैभव की प्राप्ति होती है।

मंत्र जाप करें

नवरात्रि के दिनों में रोजाना चंदन की माला से 'ॐ दुर्गाये नम:' मंत्र का जाप करें। मान्यता है कि इससे मां दुर्गा प्रसन्न होती हैं।

दान करें 

नवरात्रि पूजा दौरान मखाने के साथ सिक्का रखकर देवी मां को अर्पित करें। पूजा के बाद इसे गरीबों-बेसहारा को बांट दें। मान्यता है कि इससे शुभफल की प्राप्ति होती है।

हनुमान जी की पूजा

नवरात्रि दौरान देवी दुर्गा के साथ हनुमान जी की पूजा करने का महत्व है। इसके लिए पान के पत्ते में बताशा और लौंग रखकर हनुमान जी को चढ़ाएं। मान्यता है कि इससे जीवन के दुखों से छुटकारा मिलता है और मनचाहा फल की प्राप्ति होती है

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Related News

Recommended News

static