प्रेगनेंसी में करें इस एक ड्राई फ्रूट का सेवन, नहीं होगी बॉडी में खून की कमी

punjabkesari.in Thursday, Apr 21, 2022 - 12:42 PM (IST)

 प्रेग्नेंट महिलाओं को कंसीव करने के बाद से लेकर डिलीवरी तक अपनी डाइट का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। इस दौरान मां का खान-पान ना सिर्फ उसके स्वास्थ्य को प्रभावित करता है बल्कि बच्चे की सेहत पर भी इसका उतना ही असर पड़ता है। प्रेगनेंसी के समय ये तो सब महिलाएं जानती हैं कि ड्राई फ्रूट्स खाना उनके लिए हेल्दी है। लेकिन वे अक्सर कंफ्यूज रहती हैं कि कौन सा ड्राई फ्रूट खाएं और कौन सा न खाएं। लेकिन इस दौरान मुनक्का एक ऐसा ड्राई फ्रूट है जो महिला और बच्चे दोनों की अच्छी सेहत के लिए बहुत सहायक है। यह खाने में भी बहुत स्वादिष्ट होता है और साथ ही प्रेगनेंसी में महिलाओं को होने वाली कई तरह की परेशानियों को भी दूर करता है। 

 

PunjabKesari

 

जानिए प्रेगनेंसी में मुनक्का खाने के फायदे-

खून की कमी को करे पूरा

प्रेगनेंसी के अक्सर महिलाओं को खून की कमी होने लगती है ऐसे में मुनक्का का सेवन बॉडी में खून की कमी को पूरा करता है। इस अवस्था में महिलाओं की बॉडी में आयरन की कमी से एक प्रकार का एनीमिया हो सकता है, जिसे आयरन की कमी वाला एनीमिया कहते हैं। मुनक्का बॉडी में आयरन की कमी को भी पूरा करता है। ये ब्लड फ्लो को कंट्रोल करता है और दिल को भी स्वस्थ रखता है। 

पाचन शक्ति बढ़ाता है

मुनक्का में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है और इसलिए ये पाचन को ठीक रखता है। प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए फाइबर का सेवन बहुत उपयोगी है। इस दौरान महिला का शरीर भोजन को पचाने में बहुत संघर्ष करता है और हार्मोनल असंतुलन पाचन समस्याओं का कारण बन सकता है। ऐसे में मुनक्का पाचन को दुरुस्त रखता है। इसका सेवन करने से कब्ज की समस्या भी दूर होती है।

कैल्शियम की कमी को करता है पूरा

हमारी बॉडी में कैल्शियम का सही मात्रा में होना बहुत जरूरी है। यह हड्डियों के स्वास्थ्य, दांतों की हेल्थ, कोलेस्ट्रॉल अवशोषण, स्किन समस्याएं और दिल की अच्छी सेहत के लिए बहुत जरूरी है। मुनक्का में कैल्शियम भरपूर मात्रा में होती है। कैल्शियम प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए बेहद जरूरी है, क्योंकि यह गर्भ में बच्चे की हड्डियों के विकास के लिए आवश्यक है।

प्रेगनेंसी के दौरान कितना मुनक्का खाना चाहिए

 एक मुट्ठी मुनक्का खाना आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहेगा। आप इसे शाम के खाने के साथ या फिर सुबह के नाश्ते में ले सकते हैं। इसका बात का खास ध्यान रखें कि प्रेगनेंसी में इसका सेवन एक नियमित मात्रा में ही करें। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vandana

Related News

Recommended News

static