भारत की इन महिलाओं ने ओलंपिक पदक जीतकर रोशन किया देश का नाम

Tuesday, March 6, 2018 4:01 PM
भारत की इन महिलाओं ने ओलंपिक पदक जीतकर रोशन किया देश का नाम

आज के इस समय में महिलाओं को पुरूषों के मुकाबले कम आंकना गलत होगा। बहुत से क्षेत्रों में महिलाओं ने पुरूषों के मुकाबले अपनी एक अलग पहचान बनाई है और परिवार के साथ-साथ देश का नाम भी रोशन किया है। आज विभिन्न क्षेत्रों में अपनी अलग पहचान बनाने वाली बहुत सी महिलाओं की मिसालें हमारे सामने है। इस देश के लिए राजनीति, आविष्कारों करने और खेलों के जरिए महिलाओं ने अपना खास योगदान दिया है।

आज वुमन डे के इस खास मौके पर हम आपको कुछ ऐसी महिलाओं के बारे में बताने जा रहे है, जिन्होंने ओलंपिक में पदक जीतकर भारत का सिर गर्व से ऊंचा किया है और सबसे सामने एक मिसाल कायम की है। तो चलिए जानते है ओलंपिक में पदक हासिल करके इस देश का नाम रोशन करने वाली ऐसी ही कुछ महिलाओं के बारे में।
 

1. साइना नेहवाल
साइना नेहवाल बैडमिंडन में ओलंपिक मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी है। इससे पहले उन्होंने देश के लिए राष्ट्रमंडल खेलों में कई स्वर्ण पदक भी जीते हैं। इसके अलावा साइना नेहवाल पहली ऐसी महिला खिलाड़ी है जिन्होंने 1 महीने के अंदर ही तीन बार शीर्ष वरीयता को प्राप्त किया है।

PunjabKesari

2. मैरी कॉम
विश्व चैंपियन मुुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ने पांच बार ओलंपिक पदक हासिल किए है। उन्होंने लंदन ओलंपिक में पदक, एशियन चैंपियनशिप में चार बार गोल्ड मेडल और एशियन गेम्स में भी भारत को गोल्ड मेडल दिलाया है। पांच बार ‍विश्व मुक्केबाजी में विजेता रह चुकी मैरीकॉम को 'सुपरमॉम' और 'मैग्नीफिशेंट मैरीकॉम' की उपाधि दी गई है।

PunjabKesari

3. कर्णम मल्लेश्वरी
वेटलिफ्टिंग में पहली बार किसी भारतीय महिला ने ओलंपिक पदक जीता और इसका श्रेय कर्णम मल्लेश्वरी को जाता है। उन्होंने महिलाओं के 69 किलोवर्ग की भारोत्तोलन प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता था।

PunjabKesari

4. पी.वी. सिंधु
पुरी दुनिया को अपनी परफॉर्मेंस से चौंकाने वाली पी वी सिंधु ने बैडमिंटन में रजत पदक जीतकर देश का नाम रोशन किया है। रजक पदक जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी पी वी सिंधु को उच्चतम नागरिक सम्मान के लिए पद्मश्री और बेहतरीन बैडमिंटन प्लेयर के लिए अर्जुन पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है।

PunjabKesari

5. साक्षी मलिक
हरियाणा के रोहतक गांव से रियो ओलंपिक में कुश्ती में कांस्य पदक जीतने वाली साक्षी मलिक भी महिलाओं के लिए एक मिसाल है। 58 किलो फ्री स्टाइल में कांस्य पदक अपने नाम करने वाली साक्षी मलिक को 12 साल की उम्र से ही कुश्ती का शौंक था। अपनी मेहनत के दम पर साक्षी ने डेव शुल्ज अंतर्राष्ट्रीय रेसलिंग टूर्नमेंट में 60 किग्रा में स्वर्ण पदक जीत चुकी है।

PunjabKesari


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन