बच्चे को नहीं लगवाया Covid Injection तो लाडले को इंफेक्शन से बचाने के लिए अपनाएं ये Tricks

punjabkesari.in Tuesday, Nov 29, 2022 - 02:47 PM (IST)

छोटे बच्चों का ध्यान रखना पेरेंट्स के लिए बहुत ही बड़ी जिम्मेदारी होती है। क्योंकि बच्चे अपना ध्यान नहीं रखते हैं। खासकर कोविड में माता-पिता के लिए काम और भी ज्यादा बढ़ गया है। बच्चे की देखभाल से लेकर उनके मानसिक और शारीरिक विकास के लिए भी पेरेंट्स चिंता में रहते हैं। बच्चे को स्कूल भेजें, संक्रमण का खतरा भी बच्चों को बहुत ही ज्यादा होता है। देश में एक बार दोबारा से कोरोना के केस बढ़ रहे हैं जिसके चलते चीन में लॉकडाउन भी लगा दिया गया है। ऐसे में पेरेंट्स इस बात को लेकर कंफ्यूज हैं कि बच्चों का ध्यान कैसे रखें। खासकर जिन बच्चों ने वैक्सीन नहीं लगवाई है। आज आपको कुछ ऐसे तरीके बताते हैं जिनके जरिए आप बच्चे के देखभाल कर सकते हैं...

डेली रुटीन में करवाएं योगाभ्यास 

यदि आपके बच्चे ने कोविड का वैक्सीन नहीं लगवाया है तो आप उसकी डेली रुटीन में योगाभ्यास और व्यायाम शामिल करें। इससे बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होगी। 

PunjabKesari

मास्क लगवाएं 

यदि आपका बच्चा 5 साल से ऊपर है तो एक्सपर्ट्स की सलाह लेकर बिना मास्क के उसे घर से बाहर न निकलने दें। इससे वह किसी भी तरह की बीमारी से बचा रहेगा। 

हैंडवॉश की डालें आदत 

आप बच्चे को किसी भी तरह के संक्रमण से बचाने के लिए उसे हैंडवॉश की आदत जरुर डालें। बच्चे को बताएं कि किसी भी चीज को छूने के बाद वह अपने हाथ अच्छे से साफ कर लें। 

PunjabKesari

भीड़-भाड़ वाली जगह पर न लेकर जाएं बच्चा 

इसके अलावा यदि बच्चे ने कोविड का वैक्सीन नहीं लगाया है तो आप उसे किसी भी तरह के भीड़-भाड़ वाली जगह पर न लेकर जाएं। इससे बच्चा इंफेक्शन का शिकार हो सकता है। 

डाइट का रखें ध्यान 

बच्चे को कोविड जैसी खतरनाक बीमारी से बचाने के लिए उसकी डाइट का भी खास ध्यान रखें। हरी पत्तेदार सब्जियां, ड्राई फ्रूट्स,मौसमी फलों जैसी सब्जियों का बच्चों को सेवन करवाएं। 

PunjabKesari

आउटडोर एक्टिविटीज बंद न करें 

आप बच्चों की आउटडोर एक्टिविटीज को बंद न करें। आप खुद उनके साथ छत या फिर पार्क में खेल सकते हैं। लेकिन इस दौरान सेफ्टी रुल्स और सैनिटाइजेशन का भी पूरा ध्यान रखें। 

नेल बाइटिंग न करनें दें 

बच्चों की आदत होती है कि वह नेल बाइटिंग करते हैं ऐसे में आप उनकी इस आदत को रोक दें। ताकि वह किसी भी तरह की इंफेक्शन का शिकार न हो पाएं। 


PunjabKesari

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

palak

Related News

Recommended News

static