कभी नहीं बिगड़ेगा आपका बच्चा, इन तरीकों से करें Parents बच्चे की परवरिश

punjabkesari.in Saturday, Dec 10, 2022 - 12:09 PM (IST)

बच्चे की परवरिश माता-पिता के लिए सबसे महत्वपूर्ण होती है क्योंकि पेरेंट्स के द्वारा दी गई शिक्षा बच्चे के अच्छे जीवन के लिए जरुरी होती है। हालांकि कुछ आदतें बच्चों को सिखाने के लिए एक दिन नहीं बल्कि काफी समय लगता है। बच्चे को एक बेहतर इंसान बनाने के लिए माता-पिता को भी एक साथ मेहनत करनी पड़ती है। इसमें माता-पिता को भी धैर्य से काम लेना पड़ता है। जरुरी नहीं है कि आप अपने बच्चे की हर बात मानें। आप बच्चों को अच्छी आदतें सिखाने के लिए कुछ आसान टिप्स अपना सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में...

खुद भी करें वो चीज 

आप बच्चे को अगर कोई भी चीज सिखाना चाहते हैं तो सबसे पहले खुद उस चीज को करें। इससे बच्चे आसानी से आपकी आदत को दोहराएंगे। उदाहरण के लिए जैसे अगर आप दांत साफ रखना बताना चाहते हैं तो खुद भी दांत साफ करें। इससे बच्चों को खुद ही इस चीज की आदत हो जाएगी। 

PunjabKesari

 सिखाएं बड़ों का आदर करना 

आप बच्चों को बड़ों का आदर करना जरुर सिखाएं। इससे बच्चे हर किसी की गुडबुक्स में रहेंगे। आप उन्हें सिखाएं कि हर किसी का सम्मान करें कि चाहे कोई व्यक्ति बूढ़ा हो या बड़ा, बच्चे उनका सम्मान जरुर करें। अपने से बड़े व्यक्ति की बच्चे मदद जरुर करें। इससे वह संवेदनशील होंगे और उन्हें रिश्तों का महत्व भी समझ आएगा। 

बोलचाल का भी रखें ध्यान 

बच्चे किस तरह  से सामने वाले को डील करते हैं इससे भी उनके स्वभाव के बारे में पता चलता है। आप बच्चे की बोलचाल की भाषा में कुछ अच्छे शब्द जोड़ सकते हैं जैसे धन्यवाद, कृप्या, माफी, एक्सक्यूज मी, सॉरी जैसे शब्दों का महत्व आप बच्चे को जरुर बताएं, ताकि वह किसी से भी बात करते समय इन शब्दों का इस्तेमाल कर सकें। 

PunjabKesari

गलती समझना बताएं

बच्चे को अच्छी आदतें सिखाने से पहले यह जरुर सिखाएं कि उन्हें अपनी गलती जरुर स्वीकार करनी चाहिए। छोटी उम्र में उन्हें अपने दिल में किसी के लिए नफरत नहीं रखनी चाहिए। इसके अलावा बच्चे को बार-बार किसी बात पर न टोकते रहें। अगर बच्चे से कोई गलती हुई है तो उसे समझाएं। इसके अलावा उस गलती को सुधारने का मौका भी बच्चे को जरुर दें। 

छोटी उम्र में सिखाएं अच्छी बातें 

आप बच्चे को छोटी उम्र में ही अच्छी बातें सिखाना शुरु कर दें ताकि आगे जाकर उन्हें कोई समस्या न हो, क्योंकि बच्चे कम उम्र में कच्ची मिट्टी के जौसे होते हैं। जैसे कच्ची मिट्टी को कोई भी आकार दो वह आसानी से ढल जाती है उसी प्रकार आप बच्चे को इस तरीके से पॉजिटिविटी की आदत डाल सकते हैं। 

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

palak

Related News

Recommended News

static