ठंड में भूलकर भी ना बनाएं इन जगहों पर घूमने का प्लान, -30 डिग्री तक रहता है तापमान

1/1/2021 2:27:11 PM

घूमने का नाम आते ही हर कोई ठंडी जगह की तलाश करता है। ताकि बर्फ के साथ खेलने व फोटोग्राफी का मजा ले सके। बड़े-बड़े पहाड़ बर्फ से ढके बेहद ही सुंदर दिखाई देते हैं। ऐसे में खासतौर पर सर्दियों में लोग इन जगहों पर घूमने का प्लान बनाने है। मगर फिर भी कहीं जाने से पहले उस जगह का तापमान चैक करना बेहद जरूरी है। क्योंकि अधिक ठंडी के कारण हो सकता है कि आप वहां का तापमान सहन ना कर पाएं। ऐसे में तबीयत खराब होने पर बर्फबारी का मजा किरकिरा हो सकता है। तो आइए आज हम आपको इस आर्टिकल से ऐसी जगहों के बारे में बताते हैं, जो दिखने में भले ही बेहद खूबसूरत हो मगर ठंड अधिक होने से आपका प्लान बिगाड़ सकती है। 

लद्दाख

सुंदर प्राकृतिक नजारों से भरा लद्दाख बेहद ही खूबसूरत जगह है। ऐसे में हर कोई एक बार तो यहां घूमना जरूर जाना चाहिए। मगर सर्दियों के दिनों में यहां पर जाने का प्लान ना बनाना ही बेहतर रहेगा। असल में, दिसंबर व जनवरी के महीनों में यहां पर भारी बर्फबारी होती है। ऐसे में लद्दाख का तापमान -28 डिग्री तक पहुंच जाता है। 

PunjabKesari

PunjabKesari

स्पीति घाटी

स्पीति घाटी हिमाचल प्रदेश की खूबसूरत जगहों में से एक है। मगर यहां घूमने के लिए का सही समय नवंबर से पहले का है। इसके बार स्पीति घाटी पर तेज बर्फबारी होती है। ऐसे में यह बर्फीले रेगिस्तान की तरह दिखाई देता है। बहुत से लोग यहां पर ट्रेकिंग करने का प्लान बनाते हैं। मगर यहां का तापमान -30 डिग्री तक पहुंच जाने के कारण हर कोई यहां पर पड़ने वाली ठंड बर्दाश नहीं कर सकता है। ऐसे में बर्फबारी का मजा लेने के चक्कर में सेहत को खराब कर सकते हैं।

PunjabKesari

हेमकुंड साहिब

हेमकुंड साहिब में बेहद ऊंचाई पर स्थित गुरूद्वारा पर भारी मात्रा में भक्त दर्शन करते हैं। यह गुरूद्वारा 7 पहाड़ों के बीच बना हुआ है। ठंड के दौरान यहां का तापमान करीब -11 डिग्री तक पहुंच जाने से यह पूरी तरह से बर्फ से ढक जाता है। ऐसे में हेमकुंड साहिब जाने के लिए सर्दी की जगह गर्मी का मौसम एकदम सही रहेगा। 

PunjabKesari

PunjabKesari

सेला दर्रा

यह अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले में स्थित खूबसूरत जगह है। ऊंची पहाड़ी पर से प्राकृतिक नजारों को देखकर किसी का भी दिल आसानी से खुश हो जाता हैं। समुद्र तल से 4000 मीटर होने के बावजूद भी सर्दी में यहां पर दांत किटकिटा देने वाली ठंड पड़ती है। बात सेला दर्रा के तापमान की करें तो सर्दियों में यह -15 डिग्री तक पहुंच जाता है। ऐसे में यहां जाना खुद के लिए किसी खतरे को लेने से कम नहीं हैं। 

PunjabKesari


आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।


neetu

Recommended News