World Calligraphy Day: शब्दों को खूबसूरत बनाने की कला है कैलीग्राफी, जानिए किसने की थी शुरूआत

8/13/2020 1:59:42 PM

आज विश्व कैलीग्राफी दिवस (World Calligraphy Day) है, जो हर साल अगस्त महीने के दूसरे बुधवार को मनाय जाता है। कैलीग्राफी एक ऐसी कला है, जिससे शब्दों को सुदंर रुप देकर प्रस्तुत किया जाता है। कैलीग्राफी स्टाइल में लिखने के लिए तरह-तरह के तिरछे ब्रश का इस्तेमाल किया जाता है।
 

कैलीग्राफी क्या है?

कैलीग्राफी लिखने की एक ऐसी दृश्य कला है, जिसमें टिप इंस्ट्रूमेंट, ब्रश, या अन्य लेखन उपकरणों का यूज किया जाता है। इससे अक्षरों को डिजाइनर तरीके से लिखा जाता है, जिससे वो आम शब्दों से अलग और सुदंर दिखते हैं।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Letter "Y".. 😊 . . Pens used : @tombow.italia . . . . #calligraphy #moderncalligraphy #modernlettering #brushlettering #calligraphybymukta #happyletteringchallenge #happylettering #thecalligraphyhub #lettering #brushlettering #banner #handwritten #createinspirepositivity #happyletteringchallenge #calligraphylettering #brushletteringnewbie #letteringchallenges #dailylettering #handletteringlove#letteringcommunity #keepingitfunsimplepositive #letteringvideos #rockyourlettering #blendsinnovember #keepingitfunsimplepositive #juststartletteringchallenge

A post shared by Calligraphy by Mukta (@calligraphy_by_mukta) on Mar 21, 2020 at 3:46am PDT

मुगलों ने की कैलीग्राफी की शुरूआत

मगर, कम लोग जाते हैं कि कैलीग्राफी का चलन मुगलों ने शुरू किया था। यही नहीं, देश का संविधान लिखने के लिए भी कैलीग्राफी का भी इस्तेमाल किया गया था। चलिए आज हम आपको कैलीग्राफी से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बताते हैं, जो शायद ही किसी को पता हो।

विश्व कैलीग्राफी दिवस का इतिहास

2017 में मेनुस्क्रिप्ट पेन कंपनी (Manuscript Pen Company) ने इस दिन को मनाने की शुरूआत की थी, जिसका मकसद इस कला के विकास को बढ़ाना था। मेनुस्क्रिप्ट पेन कंपनी एक कारीगरी रिटेलर है जो कैलीग्राफी वस्तुओं का निर्माण करती है। यही नहीं, कंपनी द्वारा हर साल स्कूलों, कॉलेज आदि में कैलीग्राफी प्रतियोगिताएं भी करवाई जाती हैं।

PunjabKesari

सिर्फ इंग्लिश नहीं बल्कि इन भाषा में होती है कैलीग्राफी

लोगों को लगता है कि कैलीग्राफी सिर्फ अग्रेंजी भाषा में ही लिखी जाती है जबकि ऐसा नहीं है। कैलीग्राफी स्टाइल में लिखने की कला सदियों से चली आ रही हैं। उर्दू, चाइनिज, कोरियन, मिस्त्री, हिंदी भाषा में भी कैलीग्राफी की जाती है। चीनी, मिस्त्रियों, इस्लामियों और प्राचीन पश्चिमी देशों की कई किताबों में कैलीग्राफी कला का जिक्र भी मिलता है। यही नहीं, कुरान लिखने के लिए भी कैलीग्राफी कला का ही इस्तेमाल किया गया है। वहीं, मुगल अपनी आत्मकथा लिखने के लिए इस कला का इस्तेमाल करते थे। कोरिया में भी पुराने दस्तावेजों पर कैलीग्राफी से ही लिखा गया है।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Apapun yang kalian lakukan, baik atau buruk, benar atau salah, ingat aja "Gusthi Mboten Sare" (Tuhan tidak tidur)😇 #calligraphydaily #calligraphylettering #calligraphyart #calligrapymasters #calligraphyvideo #calligraphy #kaligrafi #kaligrafia #kaligrafina #keepwriting #khat #lettering #gustiorasare #gusthimbotensare #art

A post shared by ARIF_HDY (@altairibnhidayat) on Aug 13, 2020 at 12:55am PDT

कैसे मनाएं वर्ल्ड कैलीग्राफी डे?

आज भी कैलीग्राफी लेखन कला का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे आप भी आसानी से सीख सकते हैं। फिलहाल आप इस दिन को अपने अभ्यास और आवश्यकता अनुसार सेलिब्रेट कर सकते हैं। यूट्ब पर कैलीग्राफी आर्ट की काफी वीडियो उपलब्ध हैं, जिससे आपको काफी कुछ सीखने को मिल सकता है।

PunjabKesari


Anjali Rajput

Related News