कौन -कौन सी हैं कैंसर की Type , जानना भी है जरूरी?

Sunday, February 4, 2018 1:51 PM
कौन -कौन सी हैं कैंसर की Type , जानना भी है जरूरी?

भागदौड़ भरी जिंदगी ,बदलते लाइफस्टाइल और गलत खान-पान के कारण व्यक्तियों को कई सारी बीमारियों का सामना करना पड़ता है। उन्हीं में से एक हैं कैंसर। यह एक एेसी बीमारी है जो दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक 2025 के अंत तक भारत में कैंसर के मरीजों की संख्या इस समय से लगभग 5 गुना बढ़ जाएगी। यह खतरनाक बीमारी पुरूषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा होती है। भारत में हर साल कैंसर के 12.5 लाख पाए जाते हैं। इनमें से सात लाख मरीज महिलाएं होती हैं। कैंसर भी कई तरह के होते हैं जैसे स्किन कैंसर, कोलन कैंसर, स्तन कैंसर, ब्लड कैंसर और फेफड़ों गुदे का कैंसर, उदर का कैंसर, आंखों का कैंसर, डिम्बग्रंथि के कैंसर, पौरुष ग्रंथि यानि प्रोस्टेट कैंसर, वृषण यानि टेस्टीक्युलर कैंसर  इत्यादि। आज हम आपको इन्हीं के बारे में बताएंगे।

 

समझे कैसे होता है कैंसर

जन्म से लेकर मृत्यु तक व्यक्ति की कोशिकाओं में कई तरह के बदलाव आते हैं। पुरानी कोशिकाएं खत्म हो जाती है और नई कोशिकाएं यानि सैल जन्म लेते हैं। हमारे शरीर में रैड और व्हाइट दो तरह के सैल होते हैं जो शरीर को सुचारू रूप से चलाने का काम करते है। मगर कैंसर होने की स्थिति में यह सैल जरूरत से ज्यादा बढ़ने लगते हैं। इससे ही शरीर में कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी जन्म लेती है।

 

कैंसर होने के कारण
जैनटिक, सिगरेट, तम्बाकू, नशीले पदार्थ पदार्थ और गलत खानपान की वजह कैंसर का कारण हो सकता है। इसके लिए जीवनशैली में थोड़ा बहुत बदलाव जरूरी है।

 

कैंसर के प्रकार

1. त्वचा का कैंसर

PunjabKesari
इस तरह का कैंसर पुरूषों महिलाओं किसी को भी हो सकता है। यह कैंसर शरीर के उन हिस्सों में होता है जहां पर सूर्य की किरणें सीधी पड़ती है जैसे हथेली, उंगलियां, नाखून की त्वचा, पैर के अंगूठे की त्वचा पर कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है। स्किन कैंसर भी तीन तरह के होते हैं। जैसे बेसल सेल कार्सिनोमा, स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा, मेलानोमा आदि।

 

2. ब्लड कैंसर
ब्लड कैंसर के मरीजों की संख्या आजकल लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। यह किसी भी उम्र के व्यक्तियों को हो सकता है। जिन व्यक्तियों को ब्लड कैंसर होता है उनका वजन अचानक से घटने लगता है।

 

3. हड्डियों का कैंसर
हड्डियों के कैंसर शिकार सबसे ज्यादा बच्चें एवं बड़े को होता है। कैल्शियम की कमी के कारण हड्डियों का कैंसर हो सकता है। इससे बचने के लिए कैल्शयम से भरपूर भोजन का सेवन करना चाहिए। 

 

4. ब्रेन कैंसर (मष्तिष्क का कैंसर)
ब्रेन कैंसर को ब्रेन ट्यूमर भी कहा जाता है। समय पर इसका इलाज न करवाने से यह शरीर के दूसरे हिस्सों में फैलने लगता है। ब्रेन कैंसर होने पर सिर दर्द, उल्टी, चक्कर,  दौरे पड़ना, कम दिखना, पैरालिसिस जैसा महसूस होना आदि लक्षण दिखाई देने लगते हैं।

 

5. स्तन कैंसर

PunjabKesari
इस तरह का कैंसर महिलाओं को होता है। कई बार महिलाओं को स्तनों में दर्द और गांठ सी पड़ने लगती है। यहीं स्तन कैंसर के शुरूआती लक्षण है। इनको कभी भी नजरअंदाज न करें।

 

6. फेफड़ों, गले, मुंह का कैंसर 
सिगरेट, तम्बाकू का सेवन या दूषित हवा में सांस लेने से इस तरह के कैंसर होने लगता है। यह कैंसर आमतौर पर देखने को मिलता है। फेफड़े, गले, मुंह का कैंसर सब एक ही तरह के होते है। इनके होने के कारण भी एक से ही है।

 

7. पैनक्रियाटिक कैंसर
यह कैंसर दूसरों कैंसरो के मूकाबले कम पाया जाता है। हाल हीं में विश्व प्रसिद्द स्टेव जोब्स इसके शिकार पाए गए थे। कई सालों तक इलाज चला और अंततः जिनकी मृत्यु हो गई।


जरूरी बात
खान-पान का ध्यान और हर दो महीने बाद डॉक्टरी जांच करवा कर कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बचा जा सकता है।
 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन