स्वस्थ रहने के लिए रूटीन में शामिल करें ये 10 हैल्दी आदतें

Saturday, May 12, 2018 2:24 PM
स्वस्थ रहने के लिए रूटीन में शामिल करें ये 10 हैल्दी आदतें

हर कोई अच्छे, हैल्दी और स्वस्थ जीवन की ख्वाहिश रखता है। स्वस्थ रहने के लिए आप हैल्दी डाइट से लेकर एक्सरसाइज तक करते हैं। इसके बावजूद भी आप कई बीमारियों की चपेट मे आ जाते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि स्वस्थ रहने के लिए कुछ अच्छी आदतों का होना बेहद जरूरी है। कई बार आप कुछ चीजों को लेकर लापरवाह हो जाते है और बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। ऐसे में आज हम आपको 10 हैल्दी आदतों के बारे में बताएंगे, जिसे रूटीन में शामिल करके आप खुद को स्वस्थ रख सकते हैं।
 

रूटीन में शामिल करें ये हैल्दी आदतें
1. बाहर से घर आने के बाद, भोजन पकाने से पहले, खाना खाने के पहले या बाद में और बाथरूम का इस्तेमाल करने के बाद हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोएं। यदि आपके घर में कोई छोटा बच्चा है तब तो यह और भी जरूरी हो जाता है। उसे हाथ लगाने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह से धोएं।

PunjabKesari

2. स्वस्थ रहने के लिए रोजाना रुटीन में कुछ हल्की-फुल्की एक्सरसाइज, व्यायाम या योग शामिल करें। कुछ समय निकालकर सुबह-शाम सैर जरूर करें। इससे आपकी आधी से ज्यादा समस्याएं दूर हो जाएगी।
 

3. 45 की उम्र के बाद अपना रूटीन चेकअप करवाते रहें और अगर डॉक्टर आपको कोई दवाई देता है तो उसे नियमित रुप से लें। बीमारियों से बचने के लिए सिर्फ दवाइयां ही नहीं, रोज कोई भी एक व्यायाम रोज जरूर करें। अगर इसके लिए समय नहीं निकाल पा रहे तो दफ्तर या घर की सीढ़ियां चढ़ने और तेज चलने का रूटीन अपनाएं। इसके अलावा कोशिश करें कि दफ्तर में भी आपको बहुत देर तक एक ही पोजीशन में न बैठा रहना पड़े।
 

4. बिजी शेड्यूल के चक्कर में अक्सर लोग सुबह का नाश्ता नहीं करते लेकिन यह सेहत के लिए हानिकारक है। हैलेदी रहना चाहते है तो नाश्ते के साथ-साथ लंच और डिनर भी समय पर करें। इसके अलावा गर्मियों में ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं।
 

5. छोटी-छोटी बातों को लेकर तनाव न लें और अपने गुस्से को भी कंट्रोल में रखें। इससे भी आप कई बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। इसलिए हमेशा खुश रहे और दिमाग पर ज्यादा जोर न डालें। अपनी भावनाओं को दूसरों के साथ शेयर करें। इससे आपको हल्का महसूस होगा।

PunjabKesari

6. अपने विश्राम करने या सोने के कमरे को साफ-सुथरा, हवादार और खुला-खुला रखें। चादरें, तकियों के गिलाफ तथा पर्दों को 3 से 4 दिन में बदलते रहें। मैट्रेस या गद्दों को भी समय-समय पर धूप में रखें, ताकि उसकी धूल-मिट्टी और किटाणु निकल जाएं।
 

7. खाने में सलाद, दही, दूध, दलिया, हरी सब्जियों, साबुत दाल-अनाज आदि का इस्तेमाल जरूर करें। कोशिश करें कि आपकी प्लेट में 'वैरायटी ऑफ फूड' शामिल हो। खाना पकाने तथा पीने के लिए साफ पानी का प्रयोग करें और सब्जियों तथा फलों को अच्छी तरह धोकर खाएं।
 

8. भोजन पकाने के लिए अनसैचुरेटेड वेजिटेबल औयल जैसे- सोयाबीन, सनफ्लावर, मक्का या औलिव ऑयल का प्रयोग करें। खाने को सही तापमान पर पकाएं और ज्यादा पकाकर सब्जियों आदि के पौष्टिक तत्व नष्ट न करें। साथ ही ओवन का प्रयोग करते समय तापमान का खास ध्यान रखें। जंकफूड, सॉफ्ट ड्रिंक, मसालेदार भोजन और आर्टिफिशियल शक्कर से बने जूस का सेवन न करें।
 

9. घर में सफाई पर खास ध्यान दें, खासकर रसोई और शौचालयों पर। पानी को कहीं भी इकट्ठा न होने दें। सिंक, वॉश बेसिन आदि जैसी जगहों पर नियमित रूप से सफाई करें तथा फिनाइल, फ्लोर क्लीनर आदि का इस्तेमाल करती रहें।
 

10. रात का खाना 8 बजे तक कर लें और रात के समय ज्यादा हैवी भोजन न करें। ध्यान रहे कि भोजन हल्का-फुल्का हो। इसके अलावा सोने से पहले 15 से 20 मिनट टहलना ना भूलें।

PunjabKesari


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन