कम उम्र में शादी होने से नुकसान के साथ-साथ होते हैं ये फायदे

Sunday, June 18, 2017 12:29 PM
कम उम्र में शादी होने से नुकसान के साथ-साथ होते हैं ये फायदे

पंजाब केसरी (रिलेशनशिप) : भारत एक ऐसा देश है जहां कई छोटे गांवों में बाल विवाह देखने को मिलता है लेकिन पिछले कई समय से इसमें बदलाव आया है। पहले तो बच्चे के पैदा होते ही उसका विवाह पक्का कर दिया जाता था और 4-5 साल की उम्र में उनकी शादी कर दी जाती थी लेकिन समय के साथ शादी के लिए लड़के-लड़कियों की उम्र तय की गई और उसी के हिसाब से उनकी शादी होने लगी लेकिन आज भी कई जगहों पर उन्हें कम उम्र में शादी के बंधन में बांध दिया जाता है। कम उम्र में शादी करने के नुकसान भी होते हैं और कई फायदे भी देखने को मिलते हैं।

कम उम्र में शादी के नुकसान
इस उम्र में शादी करने से लड़के-लड़कियां अपनी अलग पहचान नहीं बना पाते और न ही ज्यादा पढ़-लिख सकते हैं। वहीं दूसरी और समय से पहले ही उनके सिर पर परिवार को संभालने की जिम्मेदारियां पड़ जाती हैं। कम उम्र में शादी होने से लड़कों से ज्यादा लड़कियोें को नुकसान होता है क्योंकि वे ससुराल के कामों और रिश्तेदारों की खुशियां पूरी करने में सारी जिदंगी बिता देती है और उसे बाहर की दुनिया के बारे में कोई जानकारी नहीं रहती। वहीं कम उम्र में शादी होने से बच्चे भी जल्दी हो जाते हैं जिससे लड़कियों की सेहत पर बुरा असर होता है और कम उम्र में मां बन जाने की वजह से उनके सिर पर बड़ी जिम्मेदारी पड़ जाती है।

 फायदे
कम उम्र में शादी करने से लड़का-लड़की एक-दूसरे के साथ ज्यादा समय बिता पाते हैं और उन्हें एक-दूसरे को समझने का भी अधिक समय मिलता है। इसके अलावा लड़कियां अपने पति के परिवार में अच्छी तरह घुल-मिल जाती हैं और ससुराल की आदतों में ढलने के लिए उसे ज्यादा समय नहीं लगता। 
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !