जानिए, डिलीवरी के बाद कब बनाएं शारीरिक संबंध

Thursday, March 16, 2017 5:16 PM
जानिए, डिलीवरी के बाद कब बनाएं शारीरिक संबंध

पेरेंटिंगः डिलीवरी के बाद एक औरत का जीवन काफी बदल जाता है। डिलीवरी के बाद महिला कई शारीरिक और भावनात्मक बदलाव से गुजरती है। महिला को शारीरिक रूप से फिट होने में डिलीवरी के बाद समय लग सकता है। नार्मल डिलीवरी में तो फिर भी औरत 1 महीने में काफी ठीक महसूस करने लग जाती है लेकिन सिजेरियन में तो ठीर होने में कम से कम 3 महीनें का समय चाहिए होता हैं। इसलिए उसे इस अवस्था में संबंध बनाने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। डिलीवरी के बाद शारीरिक संबंध बनाने का सही समय कौन सा होता है और ये कितना सेफ होता है? इस बारे में डिलीवरी के बाद ज्यादातर कपल सोचते है, तो आइए आज हम आपको इस बारे में ही बतातेे हैं।


1. स्टिचिस 
डिलीवरी के दौरान औरत को जो टांके लगते हैं उन्हें पूरी करह से ठीक होने दें। सिजेरियन में तो इन टांको की संख्या भी ज्यादा होती है और उन्हें ठीक होने मे भी अधिक समय लगता है। ऐसे में यदि शारीरिक संबंध बना लिए जाएं तो महिला को शारीरिक नुकसान हो सकता है।


2. बाॅडी फिट
डिलीवरी के बाद महिला को थकान होना स्वाभाविक होता है, क्योंकि प्रेगनेंसी के नौ महीने महिला बहुत से उतार चढ़ाव से गुजरती है। उसके बाद बच्चे को संभालने की जिम्मेदारी बहुत बढ़ी होती है। हर औरत को शारीरिक तौर पर फिट होने में समय लगता है। ऐसे में शारीरिक संबंध बनाते समय बिलकुल भी जल्दी नहीं करनी चाहिए।बल्कि महिला के स्वास्थ्य का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए।


3. ब्लीडिंग
यदि महिला को ब्लीडिंग हो रही हो तो कभी भी संबंध नहीं बनाने चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से महिला को इंफैक्शन होने का खतरा रहता है, साथ ही दर्द आदि की भी सम्भावना होती है।


4. मानसिक रूप से तैयार 
प्रेगनेंसी के नौ महीने और फिर डिलीवरी का दर्द इस सबसे उसके स्वभाव में काफी परिवर्तन आ जाता है। वह तनाव में हो जाती है। एेसे में संबंध बिल्कुल नहीं बनाने चाहिए क्योंकि ऐसे में महिलाओ को शारीरिक  संबंध बनाने के प्रति अरुचि उत्पन्न हो जाती है। आपको उसे मोरल स्पोर्ट देना चाहिए ताकि वो जल्दी ही ठीक हो सके।


5. डॉक्टर से राय
हर महिला का शरीर अलग-अलग होता है जिससे उनकी सेहत संबंधी परेशानियां भी अलग होती हैं। डिलीवरी के बाद संबंध बनाने से पहले एक बार डाॅक्टर की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए। ताकि बाद में किसी भी शरीरिक परेशानी का सामना न करना पड़े। डॅाक्टर चैक करके बता सकते है कि महिला अभी शारीरिक संबंध बनाने के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार है या नहीं।


 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!