क्यों हो रही है फूड प्वाइजनिंग, कारण जानेंगे तभी मिलेगा आराम?

Monday, May 14, 2018 12:48 PM
क्यों हो रही है फूड प्वाइजनिंग, कारण जानेंगे तभी मिलेगा आराम?

फूड प्वाइजनिंग खान-पान से संबंधित बीमारा यानि फूडबोर्न इलनेस भी कहा जाता है। यह आमतौर पर गंभीर बीमारी नही है, डाइट पर पूरा ध्यान देकर इससे जल्दी आराम मिल जाता है लेकिन इसके कारणों का जानना बहुत जरूरी है। आमतौर पर यह माना जाता है कि पुराना बासी खाना,खराब भोजन,खाने का ठीक से पका न होना,खुले में रखा हुआ भोजन,दूझ,पनीर,मावा आदि का ज्यादा सेवन करना फूड प्वाइजनिंग का कारण बनता है। इसके अलावा पैकेज्ड फूड का सेवन, खाने का एक्सपायर होना,सी फूड का सेवन भी फूड प्वाइजनिंग की वजह बन सकता है। 


इस सब वजहों के अलावा फूड प्वाइजनिंग का एक और खास कारण है बेमेल भोजन। जिसे नजरअंदाज कर दिया जाता है। जिसे पचाने में परेशानी होती है, सेहत को स्वस्थ रखने के लिए पौष्टिक आहार पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। 


बेमेल भोजन से हो सकती है फूड प्वाइजनिंग

1. दूध के साथ खट्टी चीजें
2. शहद के साथ घी का सेवन
3. सी फूड के साथ दूध
4. केले के बाद दही खाना
5. तरबूज के साथ पुदीने का सेवन 
6. चावल और सिरका
7. चाय के साथ दही, खीरा और ककड़ी खाना
 

इसके अलावा भी और बहुत सारे बेमेल भोजन हैं जो पेट को खराब कर सकते हैं। जो फूड प्वाइजनिंग का कारण बनते हैं। 


सेब का सिरका
सेब का सिरका बहुत सी हैल्थ प्रॉब्लम को दूर करने में लाभकारी है। सेब के सिरके में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण इंफैक्शन के लिए फायदेमंद है। एक गिलास गर्म पानी में 
एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर दिन में 2 बार पीएं। आराम मिलेगा। 

लहसुन
लहसुन में एंटीवायरल और एंटीफंगल गुण संक्रमण को कुदरती रूप से खत्म करने का काम करते हैं। इससे दस्त और पेट दर्द से भी छुटकारा पाया जा सकता है। अहार में लहसुन का शामिल करें। 

केला
फूड प्वाइजनिंग से राहत पाने के लिए केले का नियमित रूप से सेवन करें। इसमें मौजूद फाइबर और पोटाशियम पेट के लिए लाभकारी है। 


तुलसी
तुलसी शरीर में हर तरह के संक्रमण को दूर करने में बहुत प्रभावी है। हर रोज तुलसी के 1 या 2 पत्ते चबाकर खाएं। 

 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन