पापा के साथ खेलने वाले बच्चों का दिमाग होता हैं दोगुणा तेज

Tuesday, July 11, 2017 11:48 AM
पापा के साथ खेलने वाले बच्चों का दिमाग होता हैं दोगुणा तेज

पंजाब केसरी (पेरेंटिंग): सभी मां-बाप को अपने बच्चे प्यारे लगते है। वह उनकी सेहत से लेकर उनकी पढ़ाई तक पूरा-पूरा ध्यान रखते है। बच्चा जब स्कूल जाने लगता है तो उन्हें बच्चे की पढ़ाई को लेकर हर वक्त चिंता लगी रहती है। पिता तो अपने ऑफिस में चले जाते है लेकिन बच्चों को संभालना मां को पढ़ता है। ऐसे में उसी पर बच्चे को पढ़ाने और अच्छी बाते सिखाने की जिम्मेदारी आ जाती है। हाल ही में एक शोध में बताया गया, अगर पापा बच्चों को को पढ़ाई और उनके साथ खेले तो उनका दिमात तेज होता है। एक पिता कितना और कैसा वक्त अपने बच्चे के साथ बिताता है। इन सब बातों को असर बच्चे की बुद्धिमता पर पड़ता है। इसलिए पिता को समझ जाना चाहिए कि बच्चे के साथ वक्त बिताना उका फर्ज नहीं बल्कि जरूर है। 

 

लंदन में हुए शोध के मुताबिक अगर पिता अपने बच्चों के साथ  उनके बचपन से अच्छा वक्त बिताता है तो बच्चे कि बुद्धि पर सकारात्मक असर पड़ता है। इसके अलावा अगर पिता शांत, संवेदनशील और कम चिंता वाला स्वभाव का होता है तो उनके बच्चों का दिमाग दोगुणा तेज होता है। बच्चे का बचपन से पिता के साथ घुल-मिल रहने से उनसकी क्षमताएं उभर कर सामने आती है। 

 

शोधकर्ताओं ने 128 पिता और बच्चों पर शोध किया। शोध के दौरान उन्होंने 3 महीने तक के बच्चों के उनके पिता के साथ खेलते वक्त के वीडियो बनाएं। चीक 2 साल बाद बच्चों के ‘मेंटल डेवेलपमेंट इंडेक्स’ का टेस्त लिया. जिसके बाद उनके बच्चों को ज्यादा ज्यादा समझदार और बुद्धिमान बताया गया। अगर आप भी चाहते कि आपका बच्चों स्मार्ट और तेज निकले तो उनके साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताएं। उनकी हर एक्टिविटी में उनका साथ दें। 
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!