World Population Day: भारत में तेजी से बढ़ती जनसंख्या बन रही चिंता का विषय

7/11/2020 1:37:19 PM

बढ़ती जनसंख्या एक चिंता का विषय है। जिसे देखते हुए दुनियाभर में हर साल 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इस समय दुनिया कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहा है। वहीं Worldometers के मानें तो विश्‍व की कुल जनसंख्‍या 7.6 बिलियन यानी कि 760 करोड़ है। विश्व की सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश चीन है। इसके बाद भारत में सबसे ज्यादा जनसंख्या करीब 135 करोड़ है। 

PunjabKesari

जानिए विश्व जनसंख्या दिवस 2020 की थीम

कोरोना महामारी के चलते संयुक्त राष्ट्र ने महिलाओं के स्वास्थ्य और अधिकारों को देखते हुए विश्व जनसंख्या दिवस 2020 की थीम रखी है- 'कोविड-19 की रोकथाम: महिलाओं और लड़कियों के स्वास्थ और अधिकारों की सुरक्षा कैसे हो।' दरअसल, इस बीमारी के कारण महिलाओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, महिलाओं और उनके 5 साल से कम उम्र के शिशुओं को सही तरह से स्वास्थ्य सेवाएं और पोषक तत्व नहीं मिल रहे हैं।

क्या है विश्व जनसंख्या दिवस का इतिहास

PunjabKesari

साल 1989 में विश्व जनसंख्या दिवस मनाने की शुरुआत हुई। लगातार बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की संचालक परिषद द्वारा इस दिन को मनाने का फैसला किया गया। तभी से हर साल 11 जुलाई को यह दिवस मनाया जाता है। इस दिन कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन कर बढ़ती जनसंख्या को रोकने के जागरुक किया जाता है। 

इस तरह रोकें बढ़ती जनसंख्या 

बढ़ती जनसंख्या को रोकने के लिए लोगों को इस बारे में शिक्षित होना बहुत जरूरी है। उन्हें ये बताना होगा कि दुनिया में लगातार बढ़ती जनसंख्या बहुत बड़ी मुसीबत बन सकती है। स्कूल व कॉलेज में बच्चों को इस बारे में जानकारी दी जाए। युवा 25 से 30 साल की उम्र में विवाह करें। घर वाले उन्हें दो से ज्यादा बच्चे न करने की सलाह दे। इसके साथ ही दोनों बच्चों के जन्म में 5 साल का अंतर रखें।

PunjabKesari


Edited By

Bhawna sharma

Related News