ताली बजाएं और रोग भगाए, जानिए Clapping Therapy के फायदे

2021-10-13T16:09:28.457

किसी भी खुशी के मौके पर हम ताली बजाते हैं। मगर क्या आप जानते हैं कि इससे खुशी का एहसास होने के साथ सेहत को भी कई फायदे मिलते हैं? असल में, ताली बजाने एक तरह का योग व एक्सरसाइज है। एक्सरपर्ट के अनुसार, हमारे शरीर में कुल 340 प्रेशर पॉइंट्स होते हैं। इनमें करीब 29 पॉइंट्स हाथों में होते हैं, जो शरीर के अलग-अलग अंगों से संबंध रखते हैं। ऐसे में ताली बजाने से ये प्‍वाइंट्स उत्तेजित होते हैं और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। ऐसे में बेहतर शारीरिक व मानसिक विकास होने में मदद मिलती है। चलिए जानते हैं क्लैपिंग थेरेपी यानि ताली बजाने से मिलेने वाले फायदे...

PunjabKesari

बढ़ेगी एनर्जी

एक्सपर्ट के अनुसार, हमारा शरीर में कई सारे एनर्जी प्‍वाइंट होते हैं। ताली बजाने से वे जल्दी से उत्तेजित होते हैं। ऐसे में एनर्जेटिक रहने के लिए रोजाना 10-15 मिनट तक ताली बजाएं।

मन और शरीर में आएगी मजबूती

सुबह के समय लगातार ताली बजाने से शारीरिक व मानसिक पहलु उत्तेजित होते हैं। इससे बेहतर तरीके से शारीरिक व मानसिक विकास करने में मदद मिलती है। साथ ही दिनभर शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। इसके साथ ही मूड भी अच्छा रहता है।

ब्लड सर्कुलेशन में सुधार

इससे ब्लड सर्कुलेशन में भी सुधार होता है। इससे हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल होने में मदद मिलती है। ऐसे में हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को रोजाना ताली बजाने की यह एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए।

PunjabKesari

पेट की समस्या से छुटकारा

एक्सपर्ट के अनुसार, रोजाना ताली बजाने से पाचन तंत्र में सुधार आता है। ऐसे में इससे पेट संबंधी समस्याएं दूर होती है।

किडनी व फेफड़ों रहेंगे हेल्दी

ताली बजाने से शरीर में ऊर्जा बढ़ती है। ऐसे में किडनी व फेफड़े हेल्दी रहते हैं।

बच्चों का परफोरमेंस में करें सुधार

एक्सपर्ट के अनुसार, ताली बजाने से बच्चों की लिखने व स्पेलिंग संबंधी गलतियों में सुधार आता है। ऐसे में इससे बच्चों की परफोरमेंस अच्छी करने में मदद मिलती है।

PunjabKesari

इम्यूनिटी बढ़ाए

इससे इम्यूनिटी भी तेजी से बूस्ट होने में मदद मिलती है।

ऐसे बजाएं ताली

. इसके लिए सबसे पहले सुबह खुली हवा में पद्मासन या वज्रासन में बैठ जाएं।
. अब अपनी बाहों को ऊपर की ओर उठाएं।
. इसे इस तरह से उठाना है कि आपका निचला हाथ और उंगलियां छत की तरफ हो। इसके साथ ही ऊपरी भुजा और कंधों से 90 डिग्री का ऐंगल बन रहा हो।
. अब हथेलियों को खोलकर शरीर को ऊपर की ओर खींचते हुए सीधा रखकर ताली बजाना शुरु करें।
. इस दौरान सामान्य रूप से सांस लेते व छोड़ते रहिए।
. हथेली में गर्माहट महसूस होने पर थोड़ी देर रूक जाएं। दरअसल, गर्म हथेली इस बात का इशारा करती है कि आपका ब्लड सर्कुलेशन तेज हो रहा है। साथ ही आपके ताली बजाने का तरीका एकदम सही है।
. रोजाना इस प्रक्रिया को 10-15 मिनट तक दोहराएं।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

neetu

Recommended News

static