गणेश उत्सव: गणपति विसर्जन के अगले दिन भी ना करें ये काम

2021-09-18T12:21:07.883

भारत में गणेश उत्सव के पावन दिन चल रहे हैं। इस दौरान लोग प्रथम पूजनीय गणेश जी की प्रतिमा घर पर स्थापित करने के साथ उनकी पूजा करते हैं। साथ ही बप्पा के अलग-अलग भोग लगाते हैं। इनकी प्रतिमा को लोग 5, 7, 10 दिनों तक घर पर स्थापित करते हैं। उसके बाद पूरी धूमधाम से किसी नदी या तालाब में बप्पा का विसर्जन किया जाता है। इस साल बप्पा का विसर्जन 19 सितंबर 2021, दिन रविवार को किया जाएगा। वहीं ज्योतिष शास्त्र अनुसार, बप्पा के विसर्जन व उसके अगले दिन कुछ कामों को करने से बचना चाहिए। नहीं तो गणपति बप्पा की नाराजगी झेलनी पड़ सकती है। चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से...

नीले व काले रंग के कपड़े ना पहनें

गणपति बप्पा को नीला और काला रंग अप्रिय है। इसलिए उनके विसर्जन के दिन इन रंगों के कपड़े पहनने की गलती ना करें। इसकी जगह पर आप गणपति की का प्रिय रंग लाल या पीला पहन सकती है।

PunjabKesari

प्रसाद में तुलसी ना हो

पौराणिक कथाओं अनुसार, बप्पा की पूजा में तुलसी नहीं चढ़ती है। इसलिए ध्यान रखें कि गणेश जी की पूजा व प्रसाद में तुलसी के पत्ते ना रखें। नहीं तो इससे आपको बप्पा का क्रोध सहना पड़ सकता है।

गणेश चतुर्थी के अगले दिन न करें ये काम...


लड़ाई- झगड़ा करने से बचें

वैसे तो कभी भी लड़ाई व गुस्सा नहीं करना चाहिए। मगर बप्पा की प्रतिमा के विसर्जन वाले और उससे अगले दिन लड़ाई- झगड़ा करने की गलती ना करें। माना जाता है कि इससे बप्पा की पूजा का पूरा फल नहीं मिलता है। इसके विपरित गणपति जी की नाराजगी झेलनी पड़ सकती है।

भिखारी को घर से खाली ना जाने दें

इस दिन घर पर आए किसी भी जरूरतमंद व भिखारी को खाली हाथ ना जाने दें। आप अपने सामर्थ्य अनुसार, उन्हें दान-दक्षिणा जरूर दें। मान्यता है कि इससे गणपति बप्पा की असीम कृपा मिलती है।

PunjabKesari

किसी का अपमान न करें

वैसे तो जिंदगी में सबके साथ हंसी-खुशी से रहना चाहिए। मगर शुभ तिथियों में खासतौर पर किसी का दिल दुखाने से बचना चाहिए। इसलिए भी गणपति विसर्जन व उसके अगले दिन हर किसी के साथ अच्छे से रहे। किसी का अपमान करने से बचें।

लाइट का उचित प्रबंध रखें

भले ही आने बप्पा की प्रतिमा का विसर्जन कर दिया हो। मगर जहां बप्पा की मूर्ति स्थापना हुई थी वहां पर उस रात व अगले पूरे दिन रोशनी का प्रबंध रखें।

नॉन वेज ना खाएं

गणपति विसर्जन के अगले दिन पर नॉन वेज खाने से बचें। मान्यता है कि इससे गणेश की पूजा का पूरा फल नहीं मिलता है। साथ ही बप्पा की नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इस दिन भी सात्विक भोजन ग्रहण करें।

PunjabKesari

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

neetu

Recommended News

static