अपेंडिक्स के लक्षणों को पहचान कर एेसे करें घरेलू उपचार

Wednesday, February 7, 2018 10:57 AM
अपेंडिक्स के लक्षणों को पहचान कर एेसे करें घरेलू उपचार

अपेंडिक्स की समस्या 10 से 30 साल तक के लोगों को ज्यादा होती है। इसका कारण  गलत खान-पान और लाइफ स्टाइल है। अपेंडिक्स हमारी आंत का एक छोटा-सा हिस्सा  होता है, जिसके दो सिरे होते होते हैं। एक सिरा बंद और एक खुला। अगर कभी खुले सिरे से खाना अंदर चला जाए तो बंद सिरे से बाहर नहीं आ पाता। इससे अपेंडिक्स में इंफैक्शन होने लगता है, जिससे धीरे- धीरे पेट के दाईं ओर सूजन और दर्द होने लगती है। इस दर्द से बचने के लिए लोग ऑपरेशन का सहारा लेते हैं। इसको करवाते समय बहुत पीड़ा सहन करनी पड़ती है। एेसे में आप घरेलू तरीकों का इस्तेमाल करके भी अपेंडिक्स के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। आज हम आपको अपेंडिक्स के लक्षण और इसके घरेलू इलाज के बारे में बताएंगे।


अपेंडिक्स के प्रकार 

1. एक्यूट अपेंडिक्स
यह अपने नाम की तरह ही बहुत जल्दी बढ़ती जाती है। कई बार तो एक्यूटट अपेंडिक्स 2-3 घंटों या कुछ ही दिनों में भी पैदा हो जाती है। जिस समय यह शरीर में विकसित होती है तो उस समय कब्ज, उल्टी जैसे कई कारण दिखाई देने लगते हैं। इन शुरूआती लक्षणों को पहचान कर इसका इलाज शुरू करवा सकते हैं।
 

2. क्रोनिक अपेंडिक्स
इस तरह की अपेंडिक्स ज्यादा नहीं होती। इसके लक्षण दिखाई ही देते हैं। यह कुछ समय के बाद खुद ही समाप्त भी हो सकती है।

अपेंडिक्स के लक्षण
पीठ में दर्द
भूख में कमी
चक्कर और उल्टी आना
दस्त या कब्ज
पेशाब करते समय दर्द
मलाशय, पीठ या पेट में दर्द
ठंडा लगना और शरीर का कांपना
गैस नहीं निकाल पाना
 

अपेंडिक्स के घरेलू इलाज 

1. अदरक 
अपेंडिक्स के दर्द और सूजन को समाप्त करने के लिए अदरक रामबाण है। रोजाना 2 बार अदरक की चाय पीने से कुछ ही दिनों में फर्क दिखाई देने लगेगा।

2. पालक
अपेंडिक्स आंत के बीच में होता है। इससे बचने के लिए रोजाना पालक का सूप या इसकी सब्जी बना कर खाएं। पालक शरीर को स्वस्थ रखने का काम करता है।

3. सेंधा नमक
इस समस्या से पीड़ित व्यक्तियों को अपने खान-पान का खास ध्यान देना चाहिए। खाना खाने से पहले 1 टमाटर काटकर उसमें सेंधा नमक डाल कर खाएं। इससे कुछ ही समय के बाद पेट की दर्द और सूजन कम होने लगेगी।

4. तुलसी
तुलसी पेट के लिए लाभकारी होती है। रोजाना तुलसी वाली चाय पीने से पेट संबंधित समस्या नहीं होती। आप चाहें तो सुबह खाली पेट तुलसी को चबा- चबा कर भी खा सकते हैं। एेसा करने से भी अपेंडिक्स में राहत मिलती है।

5. छाछ
अगर आप घरेलू तरीके से इस समस्या से राहत पाना चाहते हैं। तो रोजाना छाछ का सेवन करना शुरू करें। अपेंडिक्स के दर्द से छुटकारा पाने के लिए छाछ में काला नमक डालकर पीना लाभकारी है। इससे शरीर में जमा गंदगी बाहर निकल जाती है।

 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन