घर में मौजूद नेगेटिव एनर्जी के होते हैं ये संकेत, भूलकर भी न करें ये काम

punjabkesari.in Wednesday, Jun 22, 2022 - 03:33 PM (IST)

कई बार घर के कार्य अच्छे से पूर्ण नहीं हो पाते,  हर काम में बाधा आने लगती है। घर की खुशहाली भी भंग होने लग जाती है। मन परेशान रहने लगता है। रोजाना घर में कलह-कलेश की स्थिति रहती है। यह सब आपके घर में मौजूद नेगेटिव एनर्जी के कारण हो सकते हैं। नेगेटिव एनर्जी से धन में भी कमी आती है। गृह दोष के कारण भी नेगेटिव एनर्जी बढ़ने लगती हैं। लेकिन कई चीजों आपके घर की नेगेटिव एनर्जी को बढ़ावा देती हैं। तो चलिए जानते हैं उनके बारे में...

रात में न इस्तेमाल करें सुगंधित इत्र 

शास्त्रों के अनुसार, रात को सुगंधित इत्रों का इस्तेमाल करने से आपके घर में नेगेटिव एनर्जी का आगमन होता है। तेज सुगंधित चीजों से नेगेटिव एनर्जी घर में बढ़ती है। इसलिए रात को कभी भी सुगंधित चीजें जैसे इत्र, परफ्यूम जैसी चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 

PunjabKesari

घर, कार्यस्थल और दुकान में न हो अंधेरा 

घर, कार्यस्थल और दुकान में कभी भी अंधेरा नहीं रखना चाहिए। मान्यता है कि इन जगहों में अंधेरा होने से नकरात्मक एनर्जी का संचार बढ़ता है। 

गंदगी न रखें 

घर में कभी भी गंदगी नहीं रखनी चाहिए। इसके अलावा स्वंय को भी शारीरिक रुप से साफ रखें। मान्यता है कि इससे भी घर में नेगेटिव एनर्जी का आगमन होता है। इसलिए स्वंय को और शरीर को हमेशा साफ रखें। 

PunjabKesari

पूजा-पाठ न करने से 

वैसे तो हर कोई अपने घर में पूजा-पाठ करता है, लेकिन कुछ लोग घर में पूजा-पाठ नहीं करते। मान्यता है कि जिस घर में रोजाना पूजा-पाठ नहीं किया जाता और नियमित तौर पर मंत्र जाप, दीपक प्रजवल्लित नहीं होता। उस घर में भी नेगेटिव एनर्जी का वास होता है। 

PunjabKesari

क्या है नेगेटिव एनर्जी के संकेत और इन्हें कैसे करें दूर 

. यदि आप अपने घर में स्वंय को थका हुआ, प्रेरणारहित और भ्रमित महसूस कर रहे हैं तो यह नेगेटिव एनर्जी  के संकेत हो सकते हैं। आप इसे दूर करने के लिए नियमित तौर पर घर में घंटी या फिर शंख का इस्तेमाल करें।  

PunjabKesari

. अगर आपके घर में बिना किसी बात के मतभेद और कलेश हो रहा है या फिर कोई व्यक्ति लगातार बीमार पड़ रहा है तो यह भी नेगेटिव एनर्जी का संकेत हो सकता है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

palak

Related News

Recommended News

static