Inspiring! महिलाओं को प्रेरित कर रही लेखा अल खोली, बनीं मिस्र की पहली महिला मोटर मैकेनिक

punjabkesari.in Thursday, Jan 07, 2021 - 02:21 PM (IST)

महिलाओं को लेकर आज बहुत से लोगों की सोच बदल चुकी है। वह आज एक लड़के के बराबर होकर हर काम कर रही है। समाज ने बेशक महिलाओं को काम करने की आजादी दे दी हो लेकिन न जाने क्यों लोगों ने खुद ही दिमाग में महिलाओं के लिए कुछ काम सोचे हैं यानि कि एक महिला ऑफिस में काम करती हुई दिखाई दे तो ठीक है लेकिन अगर वह रिपेयर वर्कशॉप पर काम करे तो आस पास वाले सभी लोग कईं तरह की बातें करने लगते हैं। इस मॉर्डन जमाने में भी समाज की ये बेड़ियां टूटी नहीं हैं। लेकिन इन सब के लिए Egypt  की एक महिला लेखा अल खोली (Lekaa El Kholy) महिलाओं के लिए मिसाल बन कर आगे आई है। 

PunjabKesari

पहली महिला मोटर मैकेनिक हैं लेखा अल खोली

जब भी कभी मैकेनिक का नाम लिया जाता है तो हमेशा से लोगों के मन में इस काम को करने के लिए पुरूष ही आते हैं। महिलाओं के लिए इस काम को न जाने क्यों ठीक नहीं समझा जाता है लेकिन जब भी समाज से इस नापसंद का कारण पूछा जाता है तो वह अक्सर इस पर चुप्पी साध लेते हैं। लेकिन खोली समाज की इन बातों में कभी नहीं आई और यही कारण है कि वह आज पहिला मोटर मैकेनिक बनी हैं। 

पिता का मिला पूरा सपोर्ट 

खोली के पिता भी यही काम करते थे और जब वह अपनी दुकान के लिए समान लेने जाते थे तो लेखा यह सब देखा करती थीं।  लेकिन शायद उनके पिता ने इस बात के बारे में कभी नहीं सोचा होगा कि उनकी बेटी एक दिन बड़ी होकर मैकेनिक बन जाएगी। आज लेखा के पिता इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन उन्हें पिता का पूरा सपोर्ट मिला। इसी वजह से वह मैकेनिक बन सकीं। लेखा जब 11 साल की थी तो उन्हें इस क्षेत्र में शौक देखकर उनके पापा ने उन्हें आगे बढ़ने में मदद की थी।

PunjabKesari

खोला अपना कार मेंटेनेंस सेंटर

मीडिया रिपोर्टस की मानें तो खेला काफी समय से मिस्र के एसना गांव में यह काम कर रही हैं। हाल ही में लेखा ने लग्जर में अपना खुद का कार मेंटेनेंस सेंटर खोला है।

महिलाओं को इस क्षेत्र में लाना चाहती है 

खोली कहती है कि वह इससे खुद का सपना तो पूरा करना चाहती है साथ ही में वह इस क्षेत्र में महिलाओं को लाने का भी लगातार प्रयास कर रही हैं। इसके पीछे का कारण है कि बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं जिन्हें परिवार के दबाव के कारण अपना करियर चुनने की आजादी नहीं मिलती है। 

PunjabKesari

महिलाओं के लिए करती हैं वर्कशॉप का आयोजन 

खोली  यह भी कहती है कि उनकी जैसी ऐसी कईं महिलाएं हैं जो मैकेनिक के क्षेत्र में आना चाहती हैं और वह इस काम को पूरी लग्न से करना चाहती हैं लेकिन उन्हें इस काम को करने के लिए सपोर्ट नहीं मिलता है। आपको बता दें कि खोली अपने होमटाउन में महिलाओं के लिए वर्कशॉप का आयोजन करती हैं जो मैकेनिक बनना चाहती हैं। इतना ही नहीं लगभग 20 महिलाओं ने खोली से मैकेनिक की ट्रेनिंग ली है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Janvi Bithal

Related News

Recommended News

static