Sawan Special: जानें क्यों नहीं करने चाहिए सावन के महीने ये काम?

7/6/2020 6:20:58 PM

सावन के पवित्र महीने में सभी लोग शिव भक्ति में लीन रहते है। उनकी पूजा-अर्चना कर मनोकामना को पूरा किया जाता है। कुंवारी कन्या मन चाहा जीवनसाथी पाने के लिए भगवान शिव और माता पार्वती की अराधना करती है। वहीं शादीशुदा स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु की कामना करती है। मान्यता है कि सावन का महीना भगवान शिव को अति प्रिय होने से इनकी पूजा करने से शुभफल मिलता है। मगर इस महीने के दौरान कुछ खास चीजों को लेकर मनाही होती है। इन बातों का ध्यान न रखने पर भगवान शिव का क्रोध सहना पड़ सकता है। इसके अलावा इन चीजों को लेकर वैज्ञानिक तौर पर कुछ तर्क माने जाते है। तो चलिए जानते है सावन के महीने में किन खास चीजों को लेकर मनाही मानी जाती है। 

दूध और इससे बनी चीजें

मानसून का मौसम होने से इस महीने दूध में बैक्टीरिया भारी मात्रा में पनपने लगते है। इसतरह इन चीजों को खाने से बीमार होने का खतरा बढ़ता है। इसलिए इस मौजूद में डेयरी प्रोडक्ट्स का कम से कम खाना चाहिए। साथ ही इससे भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। 

nari

मांसाहारी भोजन

यह पूरा महीना भगवान शिव को अर्पित होता है। इस दौरान सभी लोग भगवान जी की असीम कृपा पाने के लिए उनकी पूजा - अर्चना करते है। ऐसे में इस पावन महीने में मांसाहारी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए। ऐसा भी कहा जाता है कि इस महीने में मछलियां अंडे देती है।

हरी- सब्जियां

मानसून होने से इस समय में हरी- पत्तेदार सब्जियों में कीड़े पनपने लगते है। ऐसे में इसके सेवन से बीमारियों की चपेट में तेजी से आने की संभावना होती है। इसलिए सावन के महीने में इसे खाने से बचना चाहिए। 

शादी

इस महीने में सभी शादी-शुदा महिलाएं खासतौर पर जिनकी नई-नई शादी हुई हो। वो अपने मायके में रहने आती है। साथ ही वे ब्रह्मचर्य व्रत के नियमों का पालन करती है। इसके अलावा इस समय दौरान शादी का कोई शुभ मुहूर्त नहीं होता है। 

nari

मसालेदार भोजन

वैसे तो बारीश पड़ते ही लोग कुछ तला-भुना, मसालेदार खाना पसंद करते है। मगर इस समय में पेट से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा ज्यादा होता है। इस समय हवा में ज्यादा नमी होने से बैक्टीरिया तेजी से बढ़ते है। ऐसे में इस तरह की चीजें खाने से अपच, इन्फेक्शन, फूड पॉइजनिंग, डायरिया आदि परेशानियां का सामना करना पड़ सकता है। इस लिए नॉनवेज के साथ ज्यादा मसालेदार भोजन खाने से परहेज रखना चाहिए। 

गुस्सा

गुस्सा वैसे भी किसी को नहीं करना चाहिए। यह रिश्ते को खराब करने के साथ सेहत को भी नुकसान पहुंचाने का काम करता है। इस मौसम में बीमार होने का खतरा अधिक होने से गुस्सा करने से बचना चाहिए। नहीं तो ज्यादा गुस्सा करने से हाई ब्लड प्रेशर किसी समस्या होती है। ऐसे में दिल से जुड़ी बीमारियों के होने के चांचिस बढ़ते है। साथ ऐसे लोगों को भगवान शिव की नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए जितना संभव हो सके इस गुस्सा भूल शांत मन से रहना चाहिए। 

nari


Edited By

neetu

Related News