महंगे प्रोडक्ट्स नहीं सिर्फ रात को अच्छी नींद कर सकती है Ageing Process को स्लो!

punjabkesari.in Sunday, Oct 01, 2023 - 05:21 PM (IST)

आजकल की बिगड़ती लाइफस्टाइल और technology के चलते लोगों का स्लीप साइकिल काफी प्राभवित होती है। कई लोग अनिद्रा से पीड़िक हो रहे है। वहीं कई मेडकिल स्टडीज इस बात की पुष्टि करते हैं कि अपर्याप्त नींद के कारण क्रोध, चिंता और उदासी जैसी परेशनियां होती हैं। 

PunjabKesari

जॉर्जिया के एक नए study में पाया गया है कि लगातार और स्थिर नींद का शेड्यूल रखने से जैविक उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद मिल सकती है।पिछले महीने स्लीप हेल्थ जर्नल में published study निष्कर्ष निकाला कि जिन लोगों की नींद का पैटर्न अनियमित था, उनकी जैविक उम्र नियमित नींद वाले लोगों की तुलना में ज्यादा थी। जबकि जैविक आयु परीक्षण विवादास्पद हो सकते हैं, एक विशेषज्ञ का कहना है कि वे आपके शरीर के अंदर हुई "क्षति" की मात्रा का एक सूक्ष्म संकेत हैं। परीक्षण का उद्देश्य यह जांचना है कि आपकी कोशिकाएं कितनी पुरानी हैं, इसकी जांच करके आपके शरीर की उम्र बढ़ने की दर को मापना है। इस study में, ऑगस्टा विश्वविद्यालय के researchers  ने साल 2011 से 2014 के दौरान यू.एस. राष्ट्रीय स्वास्थ्य और पोषण परीक्षा सर्वेक्षण के 6,000 से अधिक प्रतिभागियों के नींद के पैटर्न को देखा।

PunjabKesari

study में भाग ले रहे लगभग 65%  लोग रात सात से नौ घंटे सोते थे, जबकि 16% सात घंटे से कम सोते थे। एक छोटा सा हिस्सा, 19%, नौ घंटे से अधिक सोया। अवलोकन के दौरान, उन्होंने देखा कि प्रतिभागियों को सप्ताहांत में औसतन 78 मिनट की अतिरिक्त नींद मिली, और उनके सोने के समय में हर रात केवल 60 मिनट का अंतर आया।उन्होंने पाया कि जिन लोगों के सोने के समय और सप्ताहांत की तुलना में सप्ताह के दौरान उनकी नींद की मात्रा में सबसे बड़ा अंतर था, उनकी जैविक आयु सबसे ज्यादा थी।

PunjabKesari

उन्होंने विशेष रूप से पता लगाया कि जो लोग अपनी नींद के शेड्यूल में सबसे अधिक लचीले और ढीले थे, उनकी जैविक उम्र नियमित शेड्यूल वाले लोगों की तुलना में नौ महीने ज्यादा थी। स्टडी के लेखकों ने लिखा, "हमने पाया कि बड़ी नींद परिवर्तनशीलता, अधिक कैच-अप नींद, बड़ी नींद की अनियमितता और अधिक सामाजिक जेटलैग ज्यादा उन्नत जैविक उम्र बढ़ने से जुड़े थे, जैसा कि नैदानिक ​​​​मार्करों के आधार पर तीन एल्गोरिदम द्वारा मापा गया था।"

लेखकों ने दावा किया कि नींद और जैविक उम्र बढ़ने के साथ इसके संबंध को मापने का यह अपनी तरह का पहला अध्ययन है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Charanjeet Kaur

static