दशहरे के दिन करें मां काली से जुड़ा उपाय, जाने-अनजाने में हुई गलती से मिलेगी मुक्ति

2021-10-14T12:07:38.89

हर साल अश्विनी मास की दशमी तिथि को दशहरा का पावन पर्व मनाया जाता है। पौराणिक कथा अनुसार इस दिन भगवान राम ने रावण पर विजय पाई थी। साथ ही देवी दुर्गा ने राक्षस महिषासुर का अंत किया था। ऐसे में इस दिन को विजय दशमी भी कहा जाता है। मान्यता है कि इस दिन रावण दहन व कुछ उपाय करने से जीवन की समस्याओं का अंत होता है। इसके अलावा कुछ खास उपाय करने से जाने-अनजाने में हुई गलतियों से मांफी मिलती है। ऐसे में अगर आप भी किसी गलती को लेकर पछता रहे हैं तो आज हमको अपनी भूल से सुधारने यानि मांफी मांगने के लिए आसान से उपाय बताते हैं। चलिए जानते हैं इनके बारे में...

काली माता के आगे तेल का दीपक जलाएं

इसके लिए आप विजयदशमी के दिन काली माता की मूर्ति के आगे बैठकर ध्यान करें। फिर तेल में 11 तिल के दाने डालकर दीपक जलाकर माता रानी के सामने रखें। उसके बाद देवी मां से अपने गुनाहों की मांफी मांगे। मान्यता है कि इससे देवी मां जल्दी ही प्रसन्न होती है। जीवन की परेशानियां दूर होकर घर में सुख-शांति का वास होता है।

PunjabKesari

शमी पेड़ के आगे जलाएं आटे का चौमुखी दीपक

मान्यता है कि दशहरे वाले दिन शमी पेड़ की पूजा करने का विशेष महत्व है। इसके लिए आटे के चार मुखी दीपक जलाकर शमी पेड़ के आगे रखें। अपने गलती की मांफी मांगे। इस दौरान ध्यान रखें कि आपको कोई टोके नहीं और साथ ही बिना पीछे देखें घर दीपक जलाकर घर लौट आए। मान्यता है कि इस उपाय को करने से भगवान की कृपा मिलती है। इससे जीवन में सुख-समृद्धि व खुशहाली का आगमन होता है।

PunjabKesari

घर पर पौधा लगाकर उसकी देखभाल करें

अगर आप कोई गलती करके परेशान है और अपने अपराध से मुक्ति पाने चाहते हैं तो इस दिन करें ये काम। इसके लिए विजयदशमी के दिन एक पौधा लागकर घर लगाएं। इसकी अच्छे से देखभाल करें। अपने अपराध की मांफी मांगे। इसके साथ ही अपने मन की बात किसी को बताएं। मान्यता है कि इससे अपराध का बोझ कम होता है। इसके अलावा पौधा जैसे-जैसा बढ़ेगा आपके जीवन में सुख-समृद्धि की बढ़ेगी।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

neetu

Related News

Recommended News

static