World Bicycle Day: साइकिलिंग करने से बेहतर होगी आपकी फिटनेस, जिम की भी नहीं पड़ेगी जरूरत

punjabkesari.in Friday, Jun 02, 2023 - 04:17 PM (IST)

हर साल की तरह इस बार भी 3 जून यानी शनिवार को विश्व साइकिल दिवस मनाया जाएगा। इसे मनाने के पीछे पर्यावरण के लिए साइकिल के फायदे उजागर करना और सेहत के लिए साइकिल चलाने के फायदों से लोगों को जागरूक करवाना है। क्योंकि लोगों ने समय की बचत और सुविधा के लिए साइकिल चलाना कम कर दिया और बाइक, कार आदि को परिवहन का साधन बना लिया। जानकारी के मुताबिक साइकिल चलाना ना आपके शारीरिक बल्कि इसके साथ-साथ आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है। अध्ययनों से पता चलता है कि साइकिल चलाने से मस्तिष्क स्वास्थ्य, मूड अच्छा रहता है और ऊर्जा के स्तर में भी सुधार होता है। यह मानसिक स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए टॉप एक्टिविटीज में से एक है जो लोगों में स्फूर्ति का संचार करता है।

साइकिल चलाने के फायदे

रोजाना आधा घंटा साइकिलिंग करने से आपकी शरीर की फालतू चर्बी कम हो जाएगी और आपका पाचनतंत्र मजबूत होगा। बता दें कि साइकिलिंग करने से आपके हार्ट और फेफड़े मजबूत होगे। इतना ही नहीं आप मोटापा, हृदय रोग, मधुमेह, गठिया, और मानसिक बीमारियों से भी बचें रहेंगे। गौरतलब है कि 3 जून, 2018 में संयुक्त राष्ट्र महासभा की ओर से न्यूयॉर्क में पहली बार विश्व साइकिल दिवस मनाया गया था इसके लिए 3 जून का दिन तय किया गया।

PunjabKesari

साइकिल का इतिहास

यूरोपीय देशों में साइकिल के इस्तेमाल का विचार 18वीं शताब्दी के दौरान लोगों को आया था लेकिन 1816 में पेरिस में पहली बार एक कारीगर ने साइकिल का आविष्कार किया, उस समय इसका नाम हाॅबी हाॅर्स यानी काठ का घोड़ा कहा जाता था। बाद में 1865 में पैर से पैडल घुमाने वाले पहिए का आविष्कार किया। इसे वेलाॅसिपीड कहा जाता था। इसे चलाने से बहुत ज्यादा थकावट होने के कारण इसे हाड़तोड़ कहा जाने लगा। साल 1872 में इसे सुंदर रूप दिया गया। लोहे की पतली पट्टी के पहिए लगाए गए। इसे आधुनिक साइकिल कहा गया। आज साइकिल का यही रूप उपलब्ध है।

PunjabKesari

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kirti

static