10-20 रुपए के लिए सिलेंडर डिलीवर करती थी अर्चना, एक वक्त में खत्म कर देना चाहती थी अपनी जिंदगी

punjabkesari.in Wednesday, Feb 22, 2023 - 02:13 PM (IST)

बिग बॉस 16 फेम अर्चना गौतम किसी पहचान की मोहताज नहीं है। अर्चना ने बिग बॉस के घर में लोगों का खूब मनोरंजन किया। भले ही अर्चना ये शो ना जीत पाई हो लेकिन उनकी अच्छी खासी फैन फॉलविंग हो गई है। आज अर्चना हर किसी के चेहरे पर मुस्कान ले आती है लेकिन उनका बचपन से लेकर अब तक का सफर काफी मुश्किलों से भरा रहा। हाल में ही अर्चना ने अपनी जिंदगी के कड़वे सच को बताया।

PunjabKesari
सिद्धार्थ कन्नान को दिए इंटरव्यू में अर्चना ने बताया कि उनका जन्म उत्तर प्रदेश के मेरठ में हुआ। उन्होंने बचपन से काफी गरीबी देगी। अर्चना ने कहा कि साल 2007-2008 में उनका परिवार आर्थिक दिक्कतों का सामना कर रहा था। अर्चना गौतम कहती है, 'फाइनेंशियल कंडीशन अच्छी नहीं होती थी बचपन में... थोड़ा सा बड़ी हुई तो खाली सिलेंडर की डिलीवरी करना शुरु किया, उससे मुझे 10-20 रुपये आते थे. मैं साइकिल या बाइक पर ले जाकर ऐसा करती थी.'। 

PunjabKesari
आगे अर्चना ने बताया, 'मेरी पहली जॉब टेलीकॉलिंग की थी. उसमें मुझे 6000 महीना मिलता था. मुझे इंग्लिश आती नहीं थी तो मैं कोशिश करती थी कि हिंदी में बात कर लूं लेकिन कोई मेरा फोन ही नहीं उठाता था, लोग फोन काट देते थे. तो उन्होंने मुझे निकाल दिया था नौकरी से क्योंकि कोई डील ही नहीं हो रही थी. फिर उससे बड़ी, 10 हजार-12 हजार, ऐसा करते-करते जॉब की. और फिर मैंने सेटलमेंट किया.'।

PunjabKesari
अर्चना गौतम ने यह भी बताया कि जिस कंपनी में आखिरी बार उन्होंने काम किया था वो बंद हो गई थी। इसके बाद वो मेरठ वापस गईं। वहां पर उन्होंने रवि किशन के शो में हिस्सा लिया था जिसका नाम सेल्स का बाजीगर था। इस शो में उन्होंने अपनी एक्टिंग से रवि किश को इंप्रेस किया था और उन्होंने अर्चना से कहा कि तुम एक्टिंग अच्छी करती हो एक्टर बनो। उस वक्त अर्चना ने सोचा कि एक्ट्रेस क्या बनूं मुझे तो कोई लड़का पसंद तक नहीं लेकिन उन्हें थोड़ी हिम्मत मिल गई। इसके बाद अर्चना मुंबई आई और वहां पर ऑडिशन दिया और सिलेक्शन हो गई। उस वक्त उन्हें  3 दिन के लिए 3500 रुपए मिले थे। साल 2014 में अर्चना मिस उत्तरप्रदेश बनी थीं और बाद में 2018 में उन्होंने मिस बिकिनी इंडिया का खिताब जीता। अर्चना ने राजनीति ज्वाइन की लेकिन लोगों ने उनका विरोध किया लेकिन इनसब के बावजूद वो पीछे नहीं हटी।

PunjabKesari
इस दौरान अर्चना ने यह भी बताया कि 16-17 साल की उम्र में उनके पापा उनकी शादी कर देना चाहते थे लेकिन उनकी मां को यह मंजूर नहीं था। अर्चना की मां ने अपने जेवर बेच दिए और उन्हें पैसे देकर घर से भगा दिया। ऐसे में अर्चना मुंबई आई लेकिन एक वक्त एक्ट्रेस की जिंदगी में ऐसा भी आया जब वो खुद को खत्म कर देना चाहती थी। अर्चना ने इस बात का खुलासा करते हुए कहा कि कोरोना के वक्त उनके पास मुंबई में अपना फ्लैट का किराया देने के पैसे नहीं थे उस वक्त उन्होंने सोच लिया कि वो अपनी जिंदगी खत्म कर देगी वो फ्लैट से कूदने वाली थी लेकिन उन्हें अपनी मां का ख्याल आ गया कि उनके घर पर राशन कैसे जाएगा। अर्चना ने कहा कि उनके ऊपर ही अपनी भाईयों की जिम्मेदारी थी। अर्चना कहती है कि शायद भगवान ने मुझे इसलिए ही जिंदा रखा कि मैं बिग बॉस में जाऊं और लोगों को हंसा सकूं। अर्चना ने कहा कि बिग बॉस में जाना भी उनका एक रिस्क वाला फैसला था। वो कहती है बिग बॉस में जाकर छवि खराब भी होती है और अच्छी भी। मैंने वहां जाकर भी रिस्क लिया। मैंने सोचा अभी तक सब अच्छा हो रहा है तो आगे भी होगा। मेरी किस्मत चल गई और मैं आज जहां हूं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

static