सांस की तकलीफ से छुटकारा दिलाएंगे ये 5 योगासन

Saturday, March 10, 2018 10:23 AM
सांस की तकलीफ से छुटकारा दिलाएंगे ये 5 योगासन

सांस लेने में परेशानी : आज के इस बदलते लाइफस्टाइल में हर व्यक्ति किसी न किसी बीमारी का शिकार है। ज्यादातर लोगों को अपनी प्रॉब्लम पता न होने के कारण छोटी बीमारी भी बढ़ कर गंभीर समस्या का रूप ले लेती है। इन्हीं बीमारियों में से एक है सांस लेने में तकलीफ। सांस फूलना या सांस ठीक से न ले पाने की समस्या एलर्जी, संक्रमण और दिनों-दिन बढ़ रहे प्रदूषण के कारण हो सकती हैं। ऐसे में अगर आपको भी सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो आज हम आपको कुछ योगासन बताएंगे, जिसकी मदद से आप इस प्रॉब्लम को दूर कर सकते हैं। इन योगासन से सांस लेने में तकलीफ के अलावा इससे जुड़ी सभी समस्याएं भी दूर हो जाएगी।



1. अनुलोम-विलोम
इस आसन को करने के लिए शांत स्थान पर सामान्य अवस्था में बैठें। इसके बाद दाएं हाथ के अंगूठे से दाएं नाक के छिद्र को बंद करें। इसके बाद दूसरे नाक छिद्र से सांस ले और छोंड़े। इसके बाद बाएं हाथ के अंगूठे से बाएं नाक के छिद्र को बंद करें और उसी तरह सांस लेकर छोड़ें। दिन में 2 बार इस योग को नियमित रूप से करने पर आपकी सांस लेने में तकलीफ की समस्या भी दूर हो जाती हैं। इसके अलावा इससे दिल की बीमारियां, अनिद्रा और डिप्रैशन की समस्या भी दूर होती है।

PunjabKesari

2. सर्वांगासन
इस योग को करने के लिए पीठ के बल लेटकर पैरों को मिलाते हुए हाथों की हथेलियों को जमीन के साथ बिल्कुल सीधा करके लगाएं। इसके बाद धीरे-धीरे सांस लेते हुए हाथों की सहायता से पैरों को धीरे-धीरे ऊपर उठाएं। पैरों को उठाने के बाद हाथों को कमर के पीछे लगाएं। इस आसन को कम से कम 4-5 दोहराएं। रोजाना इसे करने से आपकी सांसों से संबंधी हर बीमारी दूर हो जाएगी।

PunjabKesari

3. पर्वतासन
इस करने के लिए सबसे पहले जमीन पर चटाई बिछाकर पद्मासन की स्थित में बैठ जाएं। इसके बाद दाएं पैर को बाईं जांघ और बाएं पैर को दाई जांघ पर रख लें। इसके बाद धीरे-धीरे सांस भरते हुए हाथों को उपर करके जोड़ लें। इसके बाद धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए हाथों को नीचे ले आएं। 5 मिनट तक इस स्थिति में रहने के बाद सामान्य स्थिति में आ जाएं। इस योग आसन को करने से आपकी सांस लेने में तकलीफ की समस्या को साथ-साथ अस्थमा और फेफड़ों की समस्या भी दूर होती हैं।

PunjabKesari

4. चक्रासन
इसे करने के लिए पीठ के बल सीधा लेट जाएं और फिर घुटनों को मोड़कर तलवों को अच्छे से जमाते हुए एड़ियों को कूल्हे से लगाएं। इसके बाद कोहनियों को मोड़ते हुए हाथों की हथेलियों को कंधों के पीछे थोड़े अंतर पर रखें। अब सांस अंदर भरकर तलवों और हथेलियों के बल पर कमर-पेट और छाती को ऊपर उठाएं और सिर को कमर के उपर ले जाएं। कुछ देर बाद सामान्य स्थिति में आ जाएं। इस आसन को नियमित रूप से कम से कम 3-4 बार करें।

PunjabKesari

5. भुजंगासन
इसके लिए पेट के बल सीधा लेटकर दोनों हाथों को माथे के नीचे टिकाएं और पैरों के पंजों को साथ रखें। इसके बाजूओं के बीच बराबर अंतर रखते हुए माथे को सामने की ओर उठाएं। अब शरीर के आगे के भाग को बाजूओं के सहारे उठाएं।कुठ देर इस अवस्था में रहने के बाद पेट के बल लेट जाएं। इससे आपकी सांस लेने में तकलीफ के साथ-साथ डिप्रैशन, अस्थमा और तनाव की समस्याएं भी दूर होती हैं।

PunjabKesari


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन