लक्ष्मी नहीं करती निवास जहां होती है सूखी तुलसी, ऐसे करें सर्दियों में देखभाल

11/25/2020 11:11:39 AM

घर के आंगन की शोभा 'तुलसी' की हिंदू धर्म में बहुत मान्यता है। तुलसी घर में होने से न सिर्फ पॉजिटिव एनर्जी आती है बल्कि इससे बहुत सारी परेशानियां भी दूर होती हैं जैसे कि परिवार में कलह दूर होता है और सुख समृद्धि आती है लेकिन ठंड का मौसम आते ही तुलसी की ज्यादा देखभाल करने की जरूरत होती है। इसका कारण है कि बहुत तेज हवा और ठंड के कारण पौधे मुरझाने लगते हैं और देखा जाए तो तुलसी के पौधे का मुरझाना शुभ नहीं माना जाता है।  पौधा मुरझाने से घर में आर्थिक तंगी आने लगती हैं और लक्ष्मी घर में निवास नहीं करती है। तो चलिए आपको बताते हैं कि आप इन सर्दियों तुलसी के पौधे की कैसे देखभाल कर सकते हैं।

1. न लगने दें मंजरी 

PunjabKesari

तुलसी को हरा-भरा और सूखने से बचाने के लिए आपको जो पहला काम करना चाहिए वो है कि आप तुलसी पर लगी मंजरी को हटा दें। जब मंजरी सूखने लगे तो उसे तुलसी के पैधे पर लगा न रहने दें बल्कि उसे हटा दें क्योंकि अगर आ ऐसा नहीं करते हैं तो इससे घर में मानसिक रोग बढ़ जाते हैं। इसलिए तुलसी को हरा-भरा रखने के लिए मंजरी को हटा दें। 

2. हल्का गुनगुना पानी डालें 

तुलसी को रोज पानी डालते हैं तो एक बात हमेशा ध्यान में रखें कि तुलसी में एकदम से ठंडा पानी न डालें। पानी को थोड़ी गुनगुना करें और फिर डालें। इसके अलावा आप तुलसी को सूखा होने से बचाने के लिए गुनगुने पानी में कच्चा दूध भी मिला सकते हैं। और उस जल को आप तुलसी में डाल दें। 

3. रोजाना जलाएं दीपक 

PunjabKesari

अगर आपके घर तुलसी आंगन में हैं जहां ठंड बहुत ज्यादा है तो तुलसी के पौधे को किसी और जगह रखें ताकि पौधे को ज्यादा ठंडक न मिले। इसके साथ ही तुलसी के पौधे पर रोजाना दीपक जरूर जलाएं इससे तुलसी को गरमाहट रहेगी और आपकी तुलसी ठंड से भी बची रहेगी।

4. हफ्ते में एक बार करें गुणाई 

तुलसी को हरा भरा रखने के लिए हफ्ते में 1 बार तुलसी के पौधे की जड़ के आस-पास गुणाई करें ताकि पौधे को बढ़ने में मदद मिल सके।

5. तुलसी को ओढ़ दें चुनरी 

PunjabKesari

तुलसी के पौधे को हमेशा चुनरी से ओढ़ें इससे एक तो पैधा ठंड से बचा रहता है तो वहीं दूसरी ओर तुलसी भगवान विष्णु को बहुत प्रिय हैं इसलिए पवित्र चादर या चुनरी तुलसी के चारों ओर लपेट दें।

तो इस तरीके से आप तुलसी के पौधे की सर्दियों में आसानी से देखरेख कर सकते हैं। 


Janvi Bithal

Recommended News