श्रीकृष्ण के इन मंत्रों से दूर होगी सभी समस्याएं, यहां जानिए कैसे?

5/12/2021 11:09:30 AM

कहते हैं सच्चे में मन से की गई प्रार्थना भगवान जल्दी सुनते हैं। वहीं ईश्वर की कृपा होने से जीवन की सभी परेशानियां दूर होकर घर में सुख-समृद्धि, शांति व खुशहाली आती है। मगर पूजा करते समय कभी भी मन में छल-कपट की भावना नहीं रखनी चाहिए। इससे पूजा का पूरा फल नहीं मिल पाता है। वहीं आज समाज में कोरोना महामारी तेजी से फैल रही है। ऐसे में हर किसी के मन में इस वायरस की चपेट में आने डर व चारों ओर नेगेटिविटी वाला माहौल है। ज्‍योत‍िषशास्‍त्र के अनुसार, श्रीकृष्ण के मंत्रों का जप करके इन परेशानियों से छुटकारा पाया जा सकता है। कहा जाता है कि महाभारत काल में द्रोपदी पर कोई संकट आने पर वे इन मंत्रों का जप करती थी। तो आइए जानते हैं भगवान श्रीकृष्ण के वे मंत्र...

ऐसे जपें श्रीकृष्ण के मंत्री

मंत्र को देवी द्रोपदी का ध्यान करते हुए जपें। जीवन में बार-बार समस्याएं आ रही हो तो रोजाना मंत्रों का जप करीब 108 बार करें। साथ ही इस मंत्र को पूरी लगन व आस्था से जपें। मन में यहीं सोचें कि भगवान श्रीकृष्ण आपकी मदद जरूर करेंगे। साथ ही आपकी समस्याएं जल्दी ही दूर हो जाएगी।‌ सच्ची लगन व आस्था रखने वालों की भगवान जल्दी सुनते हैं।

PunjabKesari

संकट की स्थिति में जपें यह मंत्र

जीवन में कोई बड़ी समस्या व संकट आने पर श्रीकृष्ण के इस मंत्र का जप करें। ‘हे कृष्ण द्वारकावासिन् क्वासि यादवनन्दन। आपद्भिः परिभूतां मां त्रायस्वाशु जनार्दन।’ मगर इसका जप मंत्र की व‍िध‍ि का पालन करते हुए करें।

अचानक मुसीबत आने पर जपें यह मंत्र

वहीं जीवन में अचानक कोई परेशानी आने पर ऊपर बताए मंत्र का करीब 108 बार जप करें। इस मंत्र को सिद्ध करते हैं तो इसका जप करीब 51,000 बार और 51,000 आहुतियां दें। अगर आप इस मंत्र का सवा लाख जप और दशांश हवन करेंगे यह ज्यादा अच्छा होगा। इससे आप पर आई हुई परेशानी व संकट जल्दी ही दूर होगा। मगर आपको यह मंत्र पूरी श्रद्धा व निष्ठा से करना चाहिए।

बीमारी से छुटकारा पाने के लिए जपें यह मंत्र

किसी बीमारी से परेशान लोगों को कन्हैया के ‘ऊं नमो भगवते तस्मै कृष्णाया कुण्ठ मेधसे। सर्व व्याधि विनाशाय प्रभो मामृतं कृधि।’ का जप करना चाह‍िए। इस मंत्र का जप रोजाना प्रातःकाल उठकर व बिना किसी से कुछ बोले करीब 3 बार करें। मान्‍यता है इस मंत्र का जप करने से बीमारियों से छुटकारा मिलता है। वहीं बार-बार परेशान करने वाले रोगों से जल्दी ही आराम मिलता है।

PunjabKesari

अचानक आने वाली मुसीबत से बचने के लिए जपें यह मंत्र

मान्यता है कि कान्हा के ‘कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। प्रणतः क्लेश नाशाय गोव‍िंदाय नमो नमः’ मंत्र का जप करने से आने वाले संकटों से बचाव रहता है। कहा जाता है क‍ि द्रौपदी पर जब भी कोई संकट आता था तो वे सबसे पहले श्रीकृष्ण का ही स्मरण करती थी। ऐसे में भगवान श्रीकृष्ण उनके दुखों का नाश करते थे। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

neetu

Recommended News

static