जिस पेंटिंग को देखकर चिल्लाने लगे थे सुशांत, जानिए उस आर्ट के पीछे का राज

8/12/2020 5:21:22 PM

हाल ही में रिया चक्रवर्ती से ईडी ने सुशांत मामले में पूछताछ की थी। इस दौरान रिया ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए। उन्होंने कबूल किया कि साल 2019 में सुशांत और वह एकसाथ यूरोप ट्रिप के लिए गए थे। जहां से वापिस आने के बाद सुशांत की तबीयत खराब रहने लगी थी। इसके अलावा उनके व्यवहार में भी काफी बदलाव आया था। इसके पीछे का कारण रिया ने शनिदेव की पेंटिंग को बताया था। 

PunjabKesari

शनिदेव की पेंटिंग से डरे सुशांत

रिया ने बताया कि यूरोप ट्रिप के दौरान दोनों इटली के एक पुराने होटल में रुके थे। जहां की दीवारों पर पुरानी पेंटिंग्स लगी हुई थी। उन पेंटिंग्स में से एक पेंटिंग में शनि अपने बच्चों को खाते हुए दिखाई दे रहे थे। जिसे देखकर सुशांत काफी डर गए थे। सुशांत ने कहा था कि उन्हें कुछ करैक्टर्स दिखाई दे रहे हैं। तो चलिए आपको बताते है कि उस पेंटिंग के बारे में जिसके बारे में रिया ने बताया था। 

PunjabKesari

1819 से 1823 के बीच तैयार की गई थी ये पेंटिंग

रिया ने जिस पेंटिंग के बारे में बताया था उसे स्पेन के फेमस आर्टिस्ट फ्रांसिस्को गोया ने बनाई थी। साल 1819 से 1823 के बीच तैयार की गई इस पेंटिंग का नाम 'Saturn Devouring His Son' रखा गया था। जिसे अब मैड्रिड के एक संग्रहालय में रखा गया है। ग्रीस की एक पौराणिक कथा पर आधारित ये पेंटिंग प्रचलित ग्रीक माइथाॅलजी टाइटन क्रोनस की है जिसे रोमन में शनिदेव या सैटर्न कहा जाता है। माना जाता है कि उन्हें इस बात का डर था कि किसी दिन उनके बेटे के कारण उनकी राजगद्दी छीन जाएगी। इसी वजह से शनिदेव ने बेटे के जन्म लेते ही उसे खा लिया था।

PunjabKesari

ऐसा कहा जाता है कि गोया की 14 मशहूर पेंटिंग्स में से एक थी शनिदेव की पेंटिंग उन्होंने अपनी सभी पेंटिंग्स को घर की दीवारों पर सजाया हुआ था। अपनी मौत से पहले फ्रांसिस्को गोया ने घर को अपने पोते के नान कर दिया था। लेकिन समय के साथ-साथ घर के मालिक भी बदलते गए। दीवार पर 70 साल तक टंगे रहने के बाद पेंटिंग को म्यूजियम में रख दिया।


Edited By

Bhawna sharma

Related News