कोरोना काल में बढ़ी Pets की डिमांड, लॉकडाउन में 4 गुना बढ़ी कीमतें

2021-06-14T17:17:08.863

कोरोना काल के चलते पिछले साल से देश की आर्थिक अर्थव्यवस्था पर काफी असर पड़ा है। सब्जियों, पैट्रोल से लेकर लोगों की पॉकेट पर काफी असर पड़ा है। यहां तक कि कोरोना महामारी ने तो पालतू जानवरों की कीमतें भी काफी बढ़ा दी है। दरअसल, कोरोना के चलते लोग अपने पालतू जानवरों के साथ घर में समय बिताना पसंद कर रहे हैं। ऐसे में पालतू Pets, खासकर डॉग्स की कीमतें काफी बढ़ गई हैं।

महामारी के कारण बढ़ी डॉग्स की कीमतें

बात अगर किसी खास नसल यानि विदेशी डॉग्स जैसे पूचोन और कैवोडल डॉग्स की कीमतों की करें तो उसमें काफी ज्यादा उछाल आया। पेट इंडस्ट्री में इस समय यह 3 से 4 गुना ज्यादा कीमतों पर मिल रहे हैं। कभी 10 हजार रु में मिलने वाले Puppy की कीमत आज 40 हजार रु हो गई है।

PunjabKesari

कोई भी कीमत देने को तैयार

हैरानी की बात तो यह है कि लोग इन्हें महंगी कीमतों पर भी खरीदनें को तैयार हैं। एक साल पहले के मुकाबले इनकी कीमतें दोगुना हो गई है लेकिन फिर लोग डॉग्स को खरीदने के लिए तैयार हैं।

खास नस्ल के डॉग्स की मांग बढ़ी

लॉकडाउन के कारण खास नस्लों के कुत्तों जैसे माल्टा, पूचोन और कैवोडल की कीमतें इस वक्त आसमान छू रही हैं। डॉग्स कंपनी के मालिकों का कहना है कि डिमांड को देखते हुए कुत्तों की कीमतें करीब 50% तक बढ़ गई हैं। जहां पहले माल्टा डॉग के लिए हफ्ते में एक फोन आता था वहीं अब  6-7 कॉल आ जाते हैं।

PunjabKesari

डॉग्स की खरीदारी दोगुनी

हाल ही में डॉग को खरीदने वालों का कहना है कि इस समय इनकी खरीददारी दोगुनी हो गई है। 2019 के मुकाबले अब की कीमतें 30-40% बढ़ी है। हस्की नस्ल के स्वस्थ पपी की कीमत करीब 30-40 हजार रु हो गई है जबकि गोल्ड रिट्राइवर की कीमत 20 हजार है।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anjali Rajput

Recommended News

static