बसंत पंचमी में घर पर स्थापित करनी है Maa Saraswati की तस्वीर तो जाने लें ये Vastu Tips

punjabkesari.in Monday, Feb 12, 2024 - 07:15 PM (IST)

सनातन धर्म के लोग मां सरस्वती को कला और विद्या की देवी मानते हैं। बसंत पंचमी को माता के जन्मदिन के रूप में देखा जाता है और इस दिन विशेष रूप से उनकी पूजा की जाती है। अगर आप इस पावन मौके पर घर पर मां सरस्वती की प्रतिमा या मुर्ति लेकर आ रहे हैं तो इसे स्थापित करने से पहले यहां कुछ वास्तु नियम जान लें...

किस दिन मूर्ति करना है शुभ

बसंत पंचमी का दिन विद्या की देवी का ही होता है तो ऐसे में इस दिन मां की मूर्ति को घर पर स्थापित करना और विधि- विधान से पूजा करना बहुत शुभ माना जाता है।

PunjabKesari

किस दिशा में लगाएं मूर्ति

वास्तु शास्त्र के अनुसार उत्तर दिशा बहुत ही शुभ मानी जाती है। इसलिए मां सरस्वती की प्रतिमा या चित्र को उत्तर दिशा में लगाना चाहिए। इस दिशा में मूर्ति लगाने से इंसान को शिक्षा संबंधी कार्यों में सफलता मिलती है। सारे काम भी बिना बाधा के पूरे होते हैं।

किस मुद्रा में होनी चाहिए माता की मूर्ति

ध्यान रहे घर में मां सरस्वती की मूर्ति कमल पुष्प पर बैठी हुई मुद्रा में होनी चाहिए। खड़ी मुद्रा में माता की मूर्ति स्थापित करना शुभ नहीं माना जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार मां सरस्वती की मूर्ति हमेशा सौम्य, सुंदर और आशीर्वाद वाली मुद्रा में होनी चाहिए। मूर्ती खरीदते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि मूर्ति खंडित न हो। वास्तु शास्त्र के नियमों के अनुसार खंडित मूर्ति से घर में नकारात्मकता का वास होता है। बसंत पंचमी की पूजा करते समय पूजा स्थल पर भूलकर भी मां सरस्वती को 2 प्रतिमा स्थापित न करें।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Charanjeet Kaur

Recommended News

Related News

static