क्या वाकई मैदे से ज्यादा हैल्दी होती है सूजी? जानिए इसके फायदे-नुकसान

punjabkesari.in Tuesday, Feb 16, 2021 - 09:30 AM (IST)

सूजी से तैयार होने वाली डिशेज जैसे हलवा, इडली आदि ना सिर्फ खाने में स्वादिष्ट होती है बल्कि सेहत के लिए भी फायदेमंद है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल ब्रेड और पास्ता बनाने के लिए भी किया जाता है। सूजी में प्रोटीन, विटामिन्स, थायमिन, कार्बोहाइड्रेट, फोलेट B9, फाइबर, राइबोफ्लेविन B2, नियासिन B3 जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं।  वहीं, इसमें आयरन, फास्फोरस, पोटेशियम और कैल्शियम जैसे खनिज पदार्थ भी होते हैं। साधारण आटे मैदे की तुलना में आप सूजी को हेल्दी विकल्प के रूप में डाइट का हिस्सा बना सकते हैं। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि सूजी से सेहत को क्या-क्या फायदे होते हैं और इसे कैसे तैयार किया जाता है।

कैसे बनाई जाती है सूजी?

सूजी बनाने के लिए सबसे पहले दुरुम गेहूं (durum wheat) को अच्छी तरह साफ किया जाता है। इसके बाद मशीनों की मदद से इसके छिलके निकालकर सफेद दानों को दानेदार रूप में पीसा जाता है। हालांकि सूजी में गेहूं के मुकाबले कम पोषक तत्व होते हैं क्योंकि सूजी बनाते समय कई तत्व निकाल दिए जाते हैं।

क्या मैदे से ज्यादा फायदेमंद सूजी?

एक्सपर्ट के अनुसार, मैदा बनाने के लिए रिफाइनिंग प्रोसेस में गेहूं के ऊपरी हिस्से के साथ अंदर मौजूद जर्म को भी निकाल दिया जाता है। जबकि सूजी रिफाइनिंग प्रोसेस में गेहूं के सिर्फ बाहरी ऊपरी हिस्से को निकाला जाता है। यही वजह है कि सूजी के मुकाबले मैदे में कम न्यूट्रीएंट्स होते हैं।

PunjabKesari

चलिए अब हम आपको बताते हैं सूजी के जबरदस्त फायदे...

डायबिटीज कंट्रोल

सूजी में ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स बहुत कम होता है, जिससे खून में ग्लूकोस की मात्रा भी बढ़ती और शुगर भी कंट्रोल में रहता है।

पेट के लिए फायदेमंद

आटे की तुलना में सूजी पेट के लिए ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि यह धीरे-धीरे पचता है। साथ ही इससे पाचन क्रिया भी सही रहती है जिससे आप कब्ज, एसिडिटी जैसी दिक्कतों से बचे रहते हैं।

वजन घटाए

वजन घटाने के लिए सूजन सबसे बेस्ट ऑप्शन है। सूजी से बनी डिशेज पेट को लंबे समय तक भरा हुआ रखती हैं, जिससे आप ओवरईटिंग से बच जाते हैं। इससे वजन घटाने में मदद मिलती है।

PunjabKesari

एनीमिया करे दूर

इसमें आयरन भरपूर होता है, जो शरीर में रक्त के उत्पादन की क्षमता बढ़ाता है। साथ ही इससे शरीर में ब्लड सेल्स भी बनते हैं जिससे एनीमिया की शिकायत दूर होगी है।

कब्ज की परेशानी

फाइबर से भरपूर सूजी पाचनतंत्र को दुरुस्त रखती है। साथ ही इससे भोजन भी आसानी से पच जाता है, जिससे कब्ज और पेट की अन्य समस्याएं दूर रहती है।

एनर्जी बढ़ाए

सूजी का हलवा या स्नैक्स खाने से शरीर को इंस्टेंट एनर्जी मिलती है। इसमें कार्बोहाइड्रेट अधिक होता है, कमजोरी को दूर करने में भी मददगार है।

कोलेस्ट्रॉल कम करे

यह शरीर में वसा और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में भी कारगार है। इसमें ट्रांस फैटी एसिड और संतृप्‍त वसा नहीं होती जिससे कोलेस्ट्रॉल स्तर समान्य रहता है।

PunjabKesari

सूजी खाने के नुकसान

. अगर सूजी से एलर्जी है तो इसका सेवन ना करें क्योंकि इससे आपकी समस्या बढ़ सकती है। साथ ही इससे नाक बहना, छींक, पेट में ऐंठन, उल्टी और मतली की समस्या हो सकती है।
. अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से सांस संबंधी तकलीफ और दस्त जैसी परेशानी हो सकती है।
. अगर किसी खास तरह की दवाईयां ले रहे हैं तो भी सूजी का सेवन ना करें। इससे आपको उल्टा रिएक्शन हो सकता है।

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anjali Rajput

Related News

Recommended News

static