मजबूरी में स्मृति ईरानी को करनी पड़ी झाड़ू-पोंछा मारने की नौकरी, एक टीवी शो ने पलट दी थी किस्मत

punjabkesari.in Wednesday, Jun 05, 2024 - 04:07 PM (IST)

घर-घर में तुलसी से अपनी पहचान बनाने वाली स्मृति ईरानी भले ही आज राजनीति का दमदार चेहरा है लेकिन इस बार के लोकसभा चुनाव में वह पीछे रह गई। एक्टिंग के बाद, राजनीति में वह अपने बेबाक बयानों से चर्चा में बनी रही है। आज जिस मुकाम पर स्मृति है, वहां पहुंचने का सपना हर लड़की देखती है लेकिन स्मृति को भी ये सब आसानी से नहीं मिला। इसके लिए उन्होंने कई साल कड़ी मेहनत की है।

एक समय ऐसा भी था जब उनके पास ना पैसा था, ना पर्सनेलिटी एक सिंपल सी नौकरी के लिए उन्होंने जगह-जगह हाथ-पैर मारे और जब काम नहीं मिला तो उन्होंने मजबूरी में झाड़ू-पोंछे की नौकरी भी की। उनका स्ट्रगल टीनएज में ही शुरू हो गया था। वह सिर्फ 18 साल की थी जब उन्होंने नौकरी ढूंढना शुरू किया था। 'रजत शर्मा' के शो 'आप की अदालत' में उन्होंने अपनी जिंदगी के किस्से शेयर करते हुए बताया था- 'उनके पास सिर्फ 200 रु. ही बचे थे और उस दौरान उनके पास नौकरी नहीं थी। वह रोज इंटरव्यू देने जाती थी लेकिन बात नहीं बनती थी एक दिन छोटी बहन ने ही कहा कि रोज तुम इंटरव्यू देकर आती हो, आखिर क्या गड़बड़ी हो जाती है? आज तुम्हारे साथ मैं भी चलूंगी।' 

 

PunjabKesari

 

उसी दौरान उन्होंने अखबार में दो इंटरव्यू देखें, एक मैकडॉनल्ड और दूसरा जेट एयरवेज का था। उस समय स्मृति इतनी पतली हुआ करती थी उन्हें लगता था कि ये जेट एयरवेज की नौकरी उन्हें मिल जाएगी लेकिन स्मृति जब वहां गईं तो उन्हें सुनने को मिला कि अपनी शक्ल देखी है? न तो शक्ल ठीक है, ना पर्सनैलिटी अच्छी है, हम नौकरी नहीं दे सकते हैं आपको! इन बातों से स्मृति को काफी धक्का लगा और उससे भी ज्यादा बुरा तब लगा जब वो नौकरी छोटी बहन को मिल गई। स्मृति ने बताया कि उनकी बहन ने उनसे कहा कि अगर तुझे नहीं मिल रही नौकरी तो मैं ही ट्राई कर लेती हूं और उन्हें नौकरी मिल भी गई।

 

PunjabKesari

 

इसके बाद स्मृति के पास मैकडॉनल्ड का ऑप्शन बचा था, लेकिन वहां की सारी वैकेंसी भी फुल हो चुकी थीं। सिर्फ ट्रे साफ करने का और झाडू-पोंछा करने का काम बचा था। उस वक्त ये नौकरी करना स्मृति के लिए मजबूरी बना हुआ था और उन्होंने 1800 रु. की सैलरी में ये नौकरी की भी। कुछ समय बाद उन्हें मॉडलिंग करने का मौका मिला स्मृति ने फेमिना मिस इंडिया ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हिस्सा लिया। हालांकि वह विनर तो नहीं बनी लेकिन उन्हें आगे काम जरूर मिल गया। टीवी सीरियल में आने से पहले वह कई ऐड शूट में नजर आई। इस दौरान वह कुछ म्यूजिक एल्बम में भी दिखी। उसके बाद स्मृति ने टीवी सीरियल ‘हम हैं कल आजकल और कल' से अपने करियर की शुरुआत की थी लेकिन 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' ने उन्हें पूरे देश में पहचान दिलाई लेकिन जब अचानक ही स्मृति ने अपना पॉपुलर शो छोड़ा था तो सब हैरान हो गए थे।

 

PunjabKesari

 

स्मृति ने बताया कि उन्होंने भारत की सक्रिय राजनीति में आने की इच्छा के चलते ही इस सीरियल को छोड़ा था। एक्टिंग की पारी खत्म कर स्मृति राजनीति में उतर आई और दमदार शख्सियत के रूप में सामने भी आई। अपने जीवन में रोल मॉडल अपनी मां को मानने वाली स्मृति ने जिंदगी में काफी उतार-चढ़ाव देखें और उनका सामना भी किया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Bhawna sharma

static