कोरोना के बीच UK में Norovirus का कहर, दिखें ये लक्षण तो हो जाएं सतर्क

2021-07-20T14:57:29.633

कोरोना महामारी खत्म नहीं हुई कि ब्रिटेन में एक नए वायरस का खतरा मंडराने लगा है। दरअसल, यूनाइटेड किंगडम, जिसने हाल ही में कोरोनावायरस प्रतिबंधों में ढील दी है, अब नोरोवायरस के प्रकोप की सूचना दे रहा है। पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड (पीएचई) ने हाल ही में नियमित निगरानी के दौरान नोरोवायरस मामलों में उछाल मिलने के बाद चेतावनी जारी की थी। PHE के अनुसार, मई के आखिर के बाद 5 हफ्तों में, इंग्लैंड में नोरोवायरस के 154 मामले दर्ज किए गए हैं। यह पिछले 5 सालों के दौरान समान समय अवधि में मामलों में तीन गुना वृद्धि है।

नोरोवायरस क्या है?

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के अनुसार, नोरोवायरस एक बहुत ही संक्रामक वायरस है, जिसे PHE इसे "शीतकालीन उल्टी बग या विंटर वोमिटिंग वायरस" भी कहता है। सीडीसी के अनुसार, नोरोवायरस बीमारी वाले लोग अरबों वायरस कणों को बहा सकते हैं और उनमें से कुछ ही लोगों को बीमार कर सकते हैं।

PunjabKesari

कैसे फैलता है वायरस?

सीडीसी के अनुसार, कोई व्यक्ति किसी संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में आने, दूषित भोजन या पानी का सेवन करने और दूषित सतहों को छूने और फिर अपने बिना धोए हाथों को अपने मुंह में डालने से नोरोवायरस हो सकता है।

PunjabKesari

नोरोवायरस के प्रमुख लक्षण

कई बार नोरोवायरस से पीड़ित लोगों में कोई लक्षण नजर नहीं आता और यह तेजी से अपने वैरिएंट बदलता है।कई बार यह इतनी तेजी से रूप बदलता है कि जांच किट की पकड़ में भी नहीं आता। ज्यादातर लोगों में 12 से 48 घंटों के भीतर लक्षण होते हैं, जो 1 से 3 दिनों तक रह सकते हैं।

. तेज बुखार व खांसी
. बदन में दर्द
. अचानक उल्टी-दस्त होना
. पेट खराब होना या दर्द
. तेज सिरदर्द
. पेट या आंतों की सूजन

PunjabKesari

ठंडे मौसम में ज्यादा खतरा

वैसे तो यह वायरस किसी भी मौसम में हो सकता है लेकिन ठंडे मौसम व सर्दियों में यह तेजी से फैलता है। यह ज्यादा दूषित पानी व बोजन के जरिए फैलता है। इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी यह स्वस्थ व्यक्ति को हो सकता है।

शरीर में ना होने दे पानी की कमी

एक्सपर्ट के मुताबिक, उल्टी और दस्त के कारण शरीर से बहुत सारा पानी निकल जाता है इसलिए अधिक से अधिक लिक्विड लें। नोरोवायरस से ग्रस्त लोग शरीर में पानी की कमी ना होने दे क्योंकि इससे वायरस अधिक सक्रिय हो जाएगा। इसके अलावा ध्यान रखें कि पानी उबालकर पीएं और जूस का भरपूर सेवन करें। ORS व इलेक्ट्रोलाइट्स पिएं और बच्चों को भी पिलाएं।

कैसे रखें बचाव?

1. इस वायरस से बचाव के लिए सबसे जरूरी है कि आप घर में व आसपास साफ-सफाई का खास ध्यान रखें। साथ ही फल और सब्जियां को अच्छी तरह धोकर खाएं।
2. शौचालय का उपयोग करने या डायपर बदलने के बाद, खाने से पहले, खाना बनाने या संभालने से पहले और खुद को या किसी और को दवा देने से पहले अपने हाथ धोना जरूरी है।

PunjabKesari

बता दें कि इस वायरस के लिए भी कोई उपचार या दवा नहीं बनी है इसलिए आपको सतर्क रहने की जरूरत है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anjali Rajput

Recommended News

static