माधुरी ने एक फिल्म में कटवा दिया था अपना सीन क्योंकि वह वर्तमान में कोई आफत नहीं चाहती थी

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 04:37 PM (IST)

बॉलीवुड में बहुत से चेहरे आते हैं और बहुत से चेहरे जाते हैं लेकिन कुछ चेहरे ऐसे भी हैं जिन्हें फैंस भूला नहीं सकते। उन्हीं खूबसूरत चेहरों में शामिल है माधुरी दीक्षित का खूबसूरत चेहरा जिनकी मुस्कान पर हजारों लोग फिदा है। इंडस्ट्री उन्हें धक-धक गर्ल के नाम से भी जानती हैं लेकिन उन्हें ये मुकाम इतनी आसानी से नहीं मिला क्योंकि माधुरी के परिवार वाले भी नहीं चाहते थे कि माधुरी फिल्मों में काम करें।  

PunjabKesari

चलिए, इस पैकेज में आपको माधुरी दीक्षित की ही जिंदगी से जुड़ी कुछ इंटरेस्टिंग बातें बताते हैं जिनके बारे में शायद आपको पता ना हो। महाराष्ट्रीयन फैमिली में 15 मई 1967 को जन्मी माधुरी दीक्षित के लिए तो 10 अगस्त का दिन खास अहमियत रखता है क्योंकि 10 अगस्त को माधुरी फिल्मी दुनिया में जो उतरीं दी। 10 अगस्त वहीं तारीख है जब वह पहली बार बड़े पर्दे पर नजर आई थी। 

डांस सीखने की शौकिन थी माधुरी

4 भाई बहनों में माधुरी सबसे छोटी हैं और पढ़ते में भी वह बचपन से ही होशियार रही थी। उन्हें डांस का भी शौक था लेकिन उन्होंने कभी ये नहीं सोचा था कि वह फिल्मों में अभिनय करेंगी। महज 3 साल की उम्र में ही माधुरी ने डांस सीखना शुरू कर दिया था। उन्होंने क्लासिकल इंडियन डांस कत्थक में कई सारे पुरस्कार भी जीते और वह पहली ऐसी अभिनेत्री थीं जिन्हें देवदास फिल्म के लिए बिरजू महाराज ने नृत्य सिखाया था। 

फिल्मों में भी बरकरार रखा डांस का जादू 

उन्होंने अपनी फिल्मों में भी डांस का जादू बरकरार रखा। एक समय तो ऐसा आया था कि हर निर्देशक उन्हें अपनी फिल्म में लेना चाहता था इसलिए उन्हें डाइरेक्टर्स एक्ट्रेस भी कहा जाने लगा था। फिल्म निर्देशक सूरज बड़जात्या ने तो यह तक कह दिया था कि एक निर्देशक का करियर तब तक पूरा नहीं होता जब तक वो माधुरी दीक्षित के साथ काम ना करे लेकिन माधुरी का खुद का यहां तक पहुंचना आसान नहीं था। 

PunjabKesari
दरअसल, माधुरी उन दिनों स्कूल में ही पढ़ती थी और साल 1984 में राजश्री प्रोडक्शन एक नई फिल्म बनाने जा रही थी और उन्हें एक मासूम चेहरे वाली लड़की की जरूरत भी थी। उस समय गोविद जो कि उनकी बहन का ही सहपाठी था उसने माधुरी की स्कूल परफोर्मेंस को देखा था और वह राजश्री से जुड़े हुए थे और उनके दिमाग में माधुरी का ख्याल आया लेकिन गोविंद ने जब माधुरी के पेरेंट्स से बात की तो उन्होंने मना कर दिया क्योंकि वह माधुरी की पढ़ाई खराब नहीं करना चाहते थे लेकिन समझाने के बाद वह मान गए। माधुरी जब निर्माताओं से मिली तो माधुरी का स्क्रीन टेस्ट हुआ माधुरी हर तरह से खरी उतरीं और उन्हें पहली फिल्म 'अबोध' मिली।

PunjabKesari

अबोध से उन्होंने एंट्री तो कि लेकिन माधुरी को सफलता नहीं मिली हालांकि उन्हें पहचान जरूर मिली लेकिन उसके बाद उनकी बेक-टू बेक फिल्में ,आवारा बाप, स्वाति, मानव हत्या, 'दयावान' और 'खतरों के खिलाड़ी' भी बॉक्स ऑफिस पर फेल हो गई लेकिन 1988 में माधुरी को अनिल कपूर के साथ फिल्म तेजाब मिली जिसने माधुरी को अलग ही बुलंदियों पर पहुंचा दिया जहां से फिर पीछे मुड़कर उन्होंने कभी नहीं देखा। फिल्म हम आपके हैं कौन में माधुरी ने सलमान खान से ज़्यादा फीस ली थी। कहा जाता है कि इस फिल्म के लिए उन्हें 3 करोड़ रुपये मिले थे।

संजय दत्त से रहे अफेयर के चर्चे

पर्सनल लाइफ की बात करें तो उनके अफेयर की खबरों ने भी काफी सुर्खियों बटौरी। फिल्म साजन में वह संजय दत्त के करीब आ गई थी। हालांकि संजय शादीशुदा थे और एक बेटी के पिता भी लेकिन बावजूद इसके माधुरी संजय से शादी करना चाहती थी लेकिन माधुरी के घरवालों को इस रिश्ते से एतराज था हालांकि माधुरी बगावत के लिए भी तैयार थी लेकिन जब संजय दत्त का नाम बम ब्लास्ट में आया तो माधुरी ने संजय दत्त का साथ छोड़ दिया। संजय को जेल हुई तब भी उन्होंने कोई वास्ता नहीं रखा। 

PunjabKesari

कहा जाता है कि संजय दत्त की लाइफ स्टोरी पर आधारित फिल्म संजू में भी माधुरी ने अपना सीन खुद ही कटवा दिया था क्योंकि वह नहीं चाहती थी कि उनके अतीत का वर्तमान जीवन पर कोई प्रभाव पड़े। कहा जाता है कि संजय दत्त ने गिरफ्तारी करने बाद एक फोन कॉल की इजाजत दी थी और वो फोन उन्होंने माधुरी को ही किया था। उसके बाद माधुरी से कई सवाल पूछे भी गए लेकिन वह चुप ही रहीं। 

PunjabKesari

संजय दत्त से दूर होने के बाद माधुरी पूरी तरह टूट चुकीं थीं तब उन्होंने अमेरिका में रह रहे कॉर्डियोवसक्युलर सर्जन डॉ श्रीराम नेने से 1999 में शादी कर ली। शादी के बाद माधुरी अमेरिका में जाकर रहने लगीं थीं। श्रीराम नेने से माधुरी के दो बच्चे हैं। हालांकि 10 सालों तक अपने देश से दूर रहने के बाद 2011 में माधुरी ने अपने परिवार के साथ भारत में शिफ्ट हो गईं।

एम एफ हुसैन थे माधुरी के दीवाने 

माधुरी कई दिलों पर राज करती हैं लेकिन उनके सबसे बड़े फैन होने का दावा मशहूर पेंटर एमएफ हुसैन किया करते थे। एम एफ हुसैन माधुरी की खूबसूरती के दीवाने थे। उन्होंने माधुरी की कई पेंटीग्स भी बनाई थी। यहां तक की उन्होंने एक बार बताया था कि उन्होंने माधुरी स्टारर फिल्म 'हम आपके हैं कौन' 67 बार देखी है। वहीं, माधुरी के देश ही नही विदेशों में भी काफी फैन फॉलोइंग है। पाकिस्तान में भी माधुरी की कम दीवानगी नहीं है। Radiomirchi.com की एक रिपोर्ट के अनुसार, कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तान ने ताना मारा था, "अगर भारतीय उन्हें माधुरी दीक्षित देते हैं तो हम कश्मीर छोड़ देंगे।" इसके जवाब में भारतीय सेना ने ताना मारते हुए कहा, "क्या तुम्हें माधुरी से प्यार है!!”

PunjabKesari

अवार्ड्स की बात करें तो अब तक वह 6 फिल्मफेयर अवॉर्ड दिए जा चुके हैं। माधुरी के नाम ही 13 बार फिल्मफेयर नॉमिनेशन का रिकॉर्ड है। वहीं, भारत सरकार द्वारा 2008 में माधुरी को पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है।

PunjabKesari

आपको हमारा ये पैकेज कैसा लगा हमें बताना ना भूलें।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vandana

Related News

Recommended News

static