खरमास दौरान करें ये विशेष उपाय, आर्थिक तंगी से मिलेगा छुटकारा

punjabkesari.in Thursday, Dec 16, 2021 - 04:19 PM (IST)

हिंदू मान्यताओं अनुसार, हर मास में भगवान सूर्य देव अलग-अलग राशि में प्रवेश करते हैं। इस बार वे बृहस्पति की राशि धनु और मीन में गोचर कर चुके हैं। इसलिए आज से धनु संक्रांति शुरु हो रही है। आज से ही खरमास भी आरंभ हो गया है। इस मास में सभी काम धीमे पड़ने लगते हैं। ऐसे में इस दौरान कोई भी शुभ व मांगलिक कार्य करने की मनाही होती है। मगर इस मास में भगवान जी की पूजा व व्रत रखने का विशेष महत्व है। इसके साथ ही इस दौरान कुछ खास उपाय करने से आर्थिक स्थिति मजबूत होने में मदद मिलती है। चलिए जानते हैं कुछ खास उपायों के बारे में...

लक्ष्मी स्तोत्र का करें पाठ

खरमास में लक्ष्मी स्तोत्र पढ़ना शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इससे धन की देवी लक्ष्मी की असीम कृपा बरसती है। नौकरी व कारोबार से जुड़ी समस्याएं दूर होकर तरक्की के रास्ते खुलते हैं। आर्थिक स्थिति में सुधार होता है और घर में सुख, समृद्धि, वैभव का वास होता है। इस शुभ मास में कनकधारा स्तोत्र का पाठ करना भी शुभ माना जाता है।

खरमास में एकादशी व्रत रखना शुभ

हिंदू धर्म में भगवान विष्णु को समर्पित एकादशी व्रत का विशेष महत्व है। वहीं खरमास में इस पावन व्रत को रखना बेहद शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इससे व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है। जीवन की समस्त समस्याओं का अंत होकर सुख, समृद्धि और खुशहाली का वास होता है। इस दौरान पहली सफला एकादशी पड़ती है, जो सभी कार्यों को सफल करके अन्न व धन संबंधी समस्याओं को दूर करती है। मान्यता है कि खरमास दौरान एकादशी व्रत रखने से हर कार्य में सफलता मिलती है।

पीपल पूजा का विशेष महत्व

पीपल के वृक्ष में समस्त देवी-देवताओं का वास माना जाता है। ऐसे में खरमास दौरान पीपल पेड़ की पूजा करना शुभ माना जाता है। इसके लिए सुबह पीपल को जल चढ़ाएं और शाम के समय दीपक जलाएं। मान्यता है कि इससे जीवन की सभी परेशानियों व दुखों से छुटकारा मिलता है। इसके साथ ही सभी देवी-देवताओं का आशीर्वाद मिलता है।

खरमास में तुलसी पूजा करना शुभ

हिंदू धर्म में तुलसी को बेहद ही पवित्र व पूजनीय माना जाता है। यह भगवान विष्णु को अतिप्रिय होने से उनकी पूजा व भोग में विशेष तौर पर इस्तेमाल की जाती है। इसलिए खरमास में रोजाना तुलसी पौधे के आगे दीपक जलाकर पूजा करें। फिर पौधे की परिक्रमा करके विष्णु मंत्र 'ओम भगवते वासुदेवाय नम:' का करीब 1 माला या 108 बार जाप करें। मान्यता है कि इससे घर-परिवार में खुशहाली आती है। परिवार के सदस्यों की तरक्की के रास्ते खुलते हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

neetu

static