फेफड़े ही नहीं दिल पर भी असर करता है कोरोना, इन लक्षणों को न करें अनदेखा

1/20/2021 1:14:59 PM

कोरोना वायरस का कहर अभी भी खत्म नहीं हुआ है। चाहे इसकी वैक्सीन आ गई है लेकिन अभी भी यह वायरस अलग अलग तरीके से लोगों को प्रभावित कर रहा है और जान का जोखिम बना हुआ है। यह तो सब जानते हैं कि इस वायरस की चपेट में आने से फेफड़े और इम्यूनिटी तो कमजोर होती ही है साथ ही इसका असर दिल यानि हमारे हार्ट पर भी पड़ता है। इससे न केवल फेफड़ों का बल्कि दिल से जुड़े रोगों का खतरा भी बढ़ जाता है। एक स्टडी की मानें तो कोरोना से ठीक हो चुके लोगों में हृदय रोगों से जुड़े कुछ ऐसे संकेत दिख रहे हैं जिससे लोगों का डर एक बार फिर बढ़ गया है। अगर आप में भी ऐसे लक्षण आएं तो आप उसे नजरअंदाज न करें। 

PunjabKesari

1. पसीना आना या बोलने में समस्या होना

यह सुनने में तो एक सामान्य सी समस्या है लेकिन इसे गंभीर बनने में समय नहीं लग सकता है। ऐसी स्थिती में हार्ट को पूरी तरह काम करने में काफी परेशानी होती है। लोगों में नफ्यूजन, बोलने में परेशानी और पसीना आना हार्ट फेल होने के लक्षण भी दिखाई देने लगते हैं ऐसे में आप इन्हें इग्नोर न करें। 

2. लगातार छाती में दर्द की समस्या 

अक्सर लोग छाती के दर्द को आम समझ लेते हैं। लोगों को लगता है छाती में दर्द का कारण गैस है लेकिन यह गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकते हैं। कोरोना से फेफड़े तो कमजोर होते ही साथ ही धीरे धीरे हार्ट भी डैमेज होने  लगता है और सांस लेने में भी काफी समस्या होने लगती है। और इसके कारण हृदय की मांसपेशियां कमजोर हो जाती है और इसी कारण से छाती में दर्द होना, या बीच बीच में तेज दरर्द उठने जैसी समस्या हो सकती है। लेकिन अगर आपमें लगातार ऐसे लक्षण दिख रहे हैं तो हार्ट अटैक का यह लक्षण हो सकता है। 

PunjabKesari

3. थके थके महसूस करना 

कईं बार हमारा शरीर एक दम से ही डाउन हो जाता है और हम थके थके महसूस करते हैं। ऐसी स्थिती में कईं बार ऐसा देखा गया है कि व्यक्ति को अधिक थकान भी महसूस होने लगती है। अगर आपको इनमें से कुछ लक्षण दिखाई देते हैं तो आप जल्द ही डॉक्टर से संपर्क करें। 

4. धड़कन कम होना, कमजोरी महसूस करना 

एक अन्य स्टडी में यह पाया गया है कि कोरोना के मरीजों की धड़कन कम होना,कमजोरी महसूस होना, खून का प्रवाह कम होने जैसी समस्याओं का सामना भी करना पड़ताहै। इस स्थिती को POTS यानी पोस्टुरल ऑर्थोस्टैटिक टैकीकार्डिया सिंड्रोम भी कहा जाता है। शोधकर्ताओं की मानें तो यह सारे संकेत दिल की बीमारी के शुरूआती लक्षण होते हैं। 

5. मांसपेशियों में सूजन 

मांसपेशियों में दर्द होना या फिर हृदय में सूजन होने की समस्या कोरोना के लक्षणों में आम है। ऐसी स्थिती में कोरोना वायरस आपके दिल पर सीधा अटैक करता है जिसके कारण कईं बार मांसपेशियां कमजोर जाती हैं और दिल में सूजन की समस्या भी हो जाती है। 

PunjabKesari

कोरोना से मरने वालों में थीं  हृदय संबंधी समस्याएं

एक शोध की मानें तो कोरोना से मरने वाले ज्यादातर मरीजों में हृदय यानि दिल संबंधी समस्या देखी गई थी और फेफड़ों और दिल के रोग से पीड़ित मरीजों  के लिए तो कोरोना से मरने का खतरा और अधिक हो जाता है। 

किन लोगों में दिख सकते हैं ऐसे लक्षण 

शोधकर्ताओं की मानें तो ऐसे लक्षण आपको कोरोना संक्रमण के पहले दिनों में भी दिखाई दे सकते हैं और जरूरी नहीं कि अगर आपमें कोरोना के लक्षण हो तो ही आपमें दिल संबंधी समस्याएं नजर आएं। इसलिए कोरोना काल में दिल की सेहत का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। आप हेल्दी खाएं और अगर आपमें कुछ ऐसी समस्या सामने आती है तो आप तुंरत डॉक्टर से संपर्क करें। 


Janvi Bithal

Recommended News