Maha Shivratri पर घर ले आएं ये 5 चीजें, बरसेगी भोलेनाथ की कृपा

punjabkesari.in Thursday, Feb 29, 2024 - 02:47 PM (IST)

पंचाग के अनुसार हर साल फाल्गुन महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि में महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस साल ये पावन तिथि 8 मार्च को है। शिव भक्त इस दिन व्रत रखते हैं और पूजा- अर्चना करके भोलेनाथ को प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं। इसके अलावा शिवजी की कृपा पाने के लिए महाशिवरात्रि के दिन कई उपाय भी करते हैं। ज्योतिष एक्सपर्ट्स की मानें तो महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव से जुड़ी कुछ खास चीजों को घर लाना चाहिए। इससे घर में सुख- समृद्धि आती है।

नंदी की प्रतिमा

महाशिवरात्रि के दिन घर में नंदी की प्रतिमा जरूर लानी चाहिए। नंदी भोलेनाथ की सवारी हैं और उन्हें बहुत प्रिय हैं। ऐसे में इस पावन दिन नंदी की प्रतिमा की घर में स्थापना शिवजी को बहुत प्रसन्न करती हैं। आप चांदी से बनी छोटी से नंदी की मूर्ति लाकर इसे अपनी तिजोरी या धन के स्थान पर रख सकते हैं। इससे आर्थिक स्थिति बहुत मजबूत होती है।

PunjabKesari

रूद्राक्ष

एक मुखी रूद्राक्ष को शिव जी का ही स्वरूप माना जाता है। ज्योतिष एक्सपर्ट्स के अनुसार महाशिवरात्रि के शुभ दिन पर एक मुखी रुद्राक्ष लाकर इसे भगवान शिव के मंत्रोच्चार के साथ हिंदू करें और इसके बाद धारण कर लें। इसे आप घर पर  या तिजोरी पर भी रख सकते हैं

शिवलिंग

इस पावन दिन पर शिवलिंग की पूजा का खास महत्व है। शिवलिंग अभिषेक के बिना महाशिवरात्रि की पूजा अधूरी मानी जाती है। ज्योतिष के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन आप ग्रह दोष के मुक्ति के लिए रत्नों से निर्मित शिवलिंग घर ला सकते हैं। इसके अलावा आप पारद शिवलिंग भी ला सकते हैं। घर पर पारद शिवलिंग विधि- विधान से स्थापित करें और नियमित पूजन करें। इससे पितृ दोष, कालसर्प दोष और वास्तु दोष आदि से मुक्ति मिलेगी।

PunjabKesari

बेलपत्र

शिवजी को बेलपत्र बहुत प्रिय है और इसके बिना शिवजी की कोई भी पूजा अधूरी मानी जाती है। ऐसे में महाशिवरात्रि के दिन बेलपत्र जरूर लाएं और शिवजी की पूजा करें। इससे भोलेनाथ की कृपा बनी रहेगी।

महामृत्यंजय यंत्र

कहा जाता है कि महामृत्युंजय यंत्र बहुत ही प्रभावशाली होता है। घर में इसकी नियमित रूप से पूजा करने पर रोग, दोष, आर्थिक तंगी आदि का सामना नहीं करना पड़ता है। इसलिए आप महाशिवरात्रि के दिन महामृत्युंजय यंत्र घर ला सकते हैं। 

PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Charanjeet Kaur

static