दुनिया का पहला अंडरवॉटर म्यूजियम, ऑक्सीजन मास्क पहनकर जाते हैं लोग

Monday, June 4, 2018 4:00 PM
दुनिया का पहला अंडरवॉटर म्यूजियम, ऑक्सीजन मास्क पहनकर जाते हैं लोग

म्यूजियम एक ऐसी जगह है, जहां आप अपने प्राचीन कल्चर और संस्कृति की जनाकारी ले सकते है। वहीं, दुनिया में ऐसे कई अनूठे और अजीबोगरीब म्यूजियम है, जोकि अपनी अनोखी खासियत के कारण पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। मगर आज हम आपको एक ऐसे म्यूजियम के बारे में बताने जा रहे हैं, जोकि समुद्र के नीचे बसा है। इसकी गिनती विश्व के सबसे खूबसूरत म्यूजियम में होती है। चलिए जानते है इस म्यूजियम की अनोखी खूबियां।

PunjabKesari

PunjabKesari

स्पेन के कैनरी द्वीप पर बना Mueso Atlantico म्यूजियम दुनिया का पहला अंडरवॉटर म्यूजियम है। यह म्यूजियम समुद्र की सतह से 12-15 मीटर नीचे है। इस म्यूजियम में देखने के लिए बहुत सी खूबसूरत कलाकृतियां देखने को मिलती है। स्नॉर्कलिंग, डाइविंग करने वाले इस कलाकृतियों और म्यूजियम का पूरा मजा उठा सकते हैं।

PunjabKesari

यह म्यूजियम मूर्तिकार जेसेन डीक्येरिज की कल्पना थी, जिसने अंडरवॉटर में एक नई दुनिया बसाई है। उन्होंने इस म्यूजियम में रखे जाने वाली शिल्पकृतियों को बनाने के लिए दो साल इस द्वीप पर ही बिताए। उसके बाद उन्होंने इस खूबसूरत द्धीप को बनाया।

PunjabKesari

PunjabKesari

इस म्यूजियम में मानव, जानवर और पेड़ पौधों के बीच संबंध को दिखाने वाली शिल्पकृति मौजूद है, जिसे देखकर हर कोई हैरान हो जाता है। इस म्यूजियम को बनाने वाले जेसेन ने यहां दो तरह के लोगों को दिखाया, जिसमें सफल और असफल लोग मौजूद हैं। इस म्यूजियम को बनाते समय इस बात का भी ख्याल रखा गया है कि समुद्र का इको नष्ट न हो। इसलिए इसे बनाने के लिए पर्यावरण के अनुकूल सामान का इस्तेमाल किया गया है।

PunjabKesari

इस म्यूजियम में आप रिफ्यूजी, सेल्फी लेते हुए टूरिस्ट्स, पौधों और आदमियों की आकृतियां भी देखने को मिलेगी। Mueso Atlantico पूरे यूरोप और अटलांटिक में पहला ऐसा म्यूजियम है जिसे 100 साल ऐसे ही बने रहने के हिसाब से डिजाइन किया गया है। टूरिस्ट इस अद्भुत म्यूजियम और इसकी खूबसूरती को देखने के लिए दूर-दूर से आते हैं।

PunjabKesari

म्यूजियम अटलांटिको म्यूजियम में जाने के लिए आपको ऑक्सीजन मास्क पहनने की जरूरत पड़ेगी। समुद्र के अंदर बनी इन 400 कलाकृतियों को देखकर ऐसा लगता है मानो वो पानी के अंदर नहीं बल्कि जमीन पर ही खड़े हैं। टेलर ने इससे पहले भी कई जगहों पर इसी तरह के प्रयोग किए जिसमें मेक्सिको के बहामास और इंग्लैंड की थेम्स नदी शामिल हैं। इन कलाकृतियों में शरणार्थियों के संकट को बखूबी दर्शाया गया है।

PunjabKesari

PunjabKesari


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन