यूरिक एसिड गठिया ना बन जाए, पहले ही कर लें बीमारी कंट्रोल, जानिए

punjabkesari.in Friday, Apr 29, 2022 - 02:03 PM (IST)

जब शरीर से वेस्ट पदार्थ बाहर नहीं निकल पाता तो यूरिक एसिड की समस्या शुरू हो जाती है और जब यूरिक एसिड बढ़ता है तो कई तरह की बीमारियां उत्पन्न होने का खतरा पैदा हो जाता है। ये यूरिक एसिड क्रिस्टल के रूप में हड्डियों के जोड़ों में जमना शुरू हो जाता है और जब प्रॉब्लम ज्यादा बढ़ जाए तो यह गाउट यानि गठिया भी बन जाता है इसलिए इसे नियंत्रित रखना बहुत जरूरी है। यूरिक एसिड में आपका खान-पान सही होना बहुत जरूरी है क्योंकि कुछ आहार इसके स्तर को बढ़ा सकते हैं जबकि कुछ इसे कंट्रोल रखने में मदद करते हैं। 

PunjabKesari

फिर अगर आप दवा खा रहे हैं लेकिन परहेज नहीं कर रहे तो यूरिक एसिड रोग ठीक नहीं हो पाएंगे। इस बीमारी को आप अपने खान-पान के जरिए ही कंट्रोल में रख सकते हैं। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Nari (@nari.kesari1)

यूरिक एसिड तब बढ़ता है जब शरीर में प्यूरीन की मात्रा बहुत अधिक हो जाती है वहीं एक शोध के अनुसार, फ्रुक्टोज और चीनी युक्त पेय पदार्थों से भी यूरिक एसिड बढ़ता है। फुक्टोज यानि फलों में पाया जाने वाला नेचुरल शुगर। अधिक फैट वाले डेयरी प्रॉडक्ट्स भी यूरिक एसिड को बढ़ाते हैं जबकि कम वसा वाले डेयरी प्रोडक्ट्स, सोया और विटामिन सी वाले आहार भी यूरिक एसिड के स्तर को कम करते हैं।

PunjabKesari

यूरिक एसिड वाले मरीजों को नहीं खाने चाहिए ये आहार

. इन लोगों को हाई प्रोटीन डाइट नहीं लेनी चाहिए। जैसे मीट में कलेजी, तीतर, हिरण का मांस ना खाएं। राजमाह, छोले, अरबी, चावल, मैदा रेड मीट जैसी चीजें ना खाएं। इन्हें खाने से भी परहेज करें। 

PunjabKesari

. सी फूड्स खाने से बचें क्योंकि इनमें ओमेगा-3 एसिड बहुत ज्यादा होता है। 

. जिन फलों में मीठा अधिक होता है उनका जूस ना पीएं। शहद और हाई फ्रुक्टोस कॉर्न सिरप, चीनी युक्त सोड़ा जैसे लिक्विड चीजें ना लें। 

. रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट, सफेद ब्रेड, केक और बिस्कुट भी न खाएं। बाहर का तला-भूना खाने से परहेज करें।

यूरिक एसिड है तो क्या खाना चाहिए?

. फल में चेरी का सेवन करें ये यूरिक एसिड को कंट्रोल में करते हैं।

PunjabKesari

. सब्जियों में आप आलू, मटर, मशरूम, बैंगन और हरी पत्तिदार सब्जियां भी खा सकते हैं।

. सूखे मेवे जैसे अखरोट, बादाम,खाएं।साबुत अनाज में ओट्स, ब्राउन राइस, जौ लें। मसूर की दाल, बीन्स, सोयाबीन और टोफू खाएं।

. अंडा, सभी प्रकार के मसाले और जड़ी बूटियां आप खा सकते हैं। तेल में कैनोला, नारियल, जैतून और अलसी के तेल लें। 

. डेयरी प्रॉडक्ट्स खाने तो लौ फेट खाएं, चाय, काफी और ग्रीन टी का सेवन करें। 

यूरिक एसिड के देसी इलाज

. रोजाना सुबह 2 से 3 अखरोट खाएं।

. अजवाइन का सेवन रोजाना करें। इससे भी यूरिक एसिड की मात्रा कम होगी।

PunjabKesari

. जितना हो सकें विटामिन सी भरपूर चीजें खाएं। सलाद में आधा या एक नींबू खाएं। या पानी में नींबू निचोड़कर पीएं। अगर आप हर दिन 500 मिलीग्राम विटामिन सी लेंगे तो यूरिक एसिड दो महीने के अंदर ही कम हो जाएगा।

PunjabKesari

. ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं, कम से कम दिन का 3 लीटर पानी। इससे सारी गंदगी यूरिन के रास्ते बाहर निकलेगी। 

PunjabKesari

. यूरिक एसिड की वजह से गठिए की परेशानी हो गई है तो बथुए के पत्तों का जूस निकालकर रोजाना सुबह खाली पेट पीएं और उसके 2 घंटे बाद तक कुछ ना खाएं।

. अगर फिर भी फर्क ना दिखें तो चिकित्सक से सलाह जरूर लें। 

. याद रखिए यूरिक एसिड की परेशानी आपके डाइट पर ही निर्भर करती हैं। इसके अलावा योग सैर व हल्की-फुल्की एक्सरसाइज पर जोर दें। रोग  अपने आप कंट्रोल में आ जाएगी। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vandana

Related News

Recommended News

static