ब्रिटेन पर राज करेगा हिंदुस्तानी!  बोरिस जॉनसन की जगह ऋषि सुनक संभाल सकते हैं देश की कमान

punjabkesari.in Sunday, Jan 16, 2022 - 10:10 AM (IST)

लॉकडाउन के दौरान डाउनिंग स्ट्रीट में पार्टी करने को लेकर ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। दावा किया जा रहा है कि संकट से घिरे बोरिस जॉनसन जल्द ही प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे देंगे और भारतीय मूल के वित्त मंत्री ऋषि सुनक उनकी जगह ले सकते हैं।

PunjabKesari
 ब्रिटेन में ही हुआ है सुनक का जन्म

 मई 2020 में कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री कार्यालय डाउनिंग स्ट्रीट में हुई ड्रिंक पार्टी को लेकर हुए खुलासों के मद्देनजर 57 वर्षीय जॉनसन पर न केवल विपक्षी दलों बल्कि उनकी खुद की पार्टी की ओर से भी इस्तीफा देने का दबाव बढ़ रहा है।  ब्रिटेन में जन्मे  सुनक की मां  एक फार्मासिस्ट और राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) में कार्यरत हैं। उनके पिता ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से स्नातक हैं।
PunjabKesari

 

 नारायण मूर्ति की बेटी है सुनक की पत्नी

सुनक का विवाह इंफोसिस के सह-संस्थापक नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता मूर्ति से हुआ था और दंपती की दो बेटियां हैं जिनके नाम कृष्णा और अनुष्का हैं। यार्कशायर के रिचमोंड से सांसद सुनक 2015 में पहली बार ब्रिटिश संसद पहुंचे थे और ‘ब्रेक्जिट’ का पुरजोर समर्थक कर टोरी पार्टी में अपनी एक जगह बना ली। उन्होंने यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के बाहर होने की जॉनसन की रणनीति का समर्थन किया था।

 

जिंदगी में देखे कई उतार-चढ़ाव

सुनक ने ब्रेक्जिट पर जनमत संग्रह के दौरान कहा था कि अपनी मां की छोटी सी दवा की दुकान में काम करने से लेकर बड़े कारोबार खड़े करने के अपने अनुभव में मैंने देखा कि हमें किस तरह से स्वतंत्र उद्यम और नवाचार का समर्थन कर ब्रिटेन का उज्ज्वल भविष्य सुनिश्चित करना चाहिए। उन्होंने एक अरब पाउंड की वैश्विक निवेश फर्म की सह-स्थापना की और राजनीति में प्रवेश करने से पहले छोटे ब्रिटिश कारोबारों में निवेश करने में विशेषज्ञता हासिल की।

PunjabKesari

 2020 में रच डाला था इतिहास

सुनक ने फरवरी 2020 में उस वक्त इतिहास रच दिया, जब ब्रिटिश मंत्रिमंडल में सर्वाधिक महत्वपूर्ण पद पर उन्हें नियुक्त किया गया। यदि टोरी पार्टी के अंदर चल रही चर्चा और सट्टेबाजों के दावे सही साबित हुए तो 41 वर्षीय सुनक ब्रिटेन के भारतीय मूल के प्रथम प्रधानमंत्री बन कर एक और इतिहास रच देंगे। उल्लेखनीय है कि अक्टूबर 2020 में जब उनसे सवाल किया गया था कि क्या प्रधानमंत्री पद की उन्हें महत्वाकांक्षाएं हैं, सुनक ने कहा था कि नहीं, बिल्कुल नहीं। प्रधानमंत्री के कार्यों को देखकर लगता है कि यह मेरे लिए एक बहुत कठिन जिम्मेदारी होगी।

PunjabKesari

क्या है विवाद

 उल्लेखनीय है कि मई 2020 में कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान डाउनिंग स्ट्रीट में हुई ड्रिंक पार्टी को लेकर हुए खुलासों के मद्देनजर 57 वर्षीय जॉनसन पर न केवल विपक्षी दलों, बल्कि उनकी खुद की पार्टी की ओर से भी इस्तीफा देने का दबाव बढ़ रहा है। दरअसल, उस समय देश में कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए सार्वजनिक समारोह आयोजित करने पर पाबंदी लगी हुई थी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Related News

Recommended News

static