भारतीय छात्रों को भा रहा है अमेरिका, साल 2023 में 1.40 लाख रिकॉर्ड वीजा जारी करवा चीन को पछाड़ा

punjabkesari.in Thursday, Nov 30, 2023 - 01:27 PM (IST)

आजकल भारतीयों छात्र पढ़ाई के लिए देश से बाहर निकल रहे हैं और उनकी पहली पसंद अमेरिका बनी हुई है। हाल ही में सामने आए आंकड़ों से ये बात साफ हुई है। Higher Studies के साथ बेहतर भविष्य की तलाश में अमेरिका आ रहे हैं भारतीयों में 35 फीसदी तक की वुद्धि आई है। academic ईयर 2022- 23 में अब तक सबसे ज्यादा 2,68,923 छात्र अमेरिका गए हैं। एक रिपोर्ट में ये जानकारी सामने आई है। 

PunjabKesari

लगातार तीसरी साल अमरीका बना पहली पसंद 

अमेरीकी दूतावास द्वारा इंटरनेशनल एजुकेशन वीक की शुरुआत पर जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार, उच्च शिक्षा के लिए इंडियन स्टूडेंट की पहली पसंद यूएसए है। भारतीय स्टूडेंट्स का यह रुझान लगातार तीन साल से बना हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, अमरीका में इंडिया से जाने वाले छात्रों की संख्या लगभग 35 फीसद बढ़ गई है। साल 2022- 23 में ये संख्या 2.68 लाख स्टूडेंट्स से भी ज्यादा हो चुकी है। अमेरिका में कुल विदेशी छात्रों में भारतीयों की संख्या 25 फीसद यानि कि देश में हर चौथा विदेशी स्टूडेंट अब इंडियन है।

PunjabKesari

भारतीय  छात्रों ने पछाड़ा चीन को

भारतीय छात्रों ने अब इस मामले में चीन को भी पछाड़ दिया है। अमेरिका में ग्रेजुएशन कर रहे भारतीय छात्रों की संख्या 2009-10 के मुकाबले 63 फीसद बढ़कर 1.65 लाख से ज्यादा हो गई है। ये आंकड़ा चीन के छात्रों से ज्यादा है। पिछले साल अंडर ग्रेजुएट स्टूडेंट्स की संख्या 16 फीसद बढ़ गई है, साथ ही ऑप्टिकल प्रैक्टिकल ट्रेनिंग (OPT)  लेने वाले भारतीयों की संख्या भी सबसे ज्यादा 69062 हो चुकी है। OPT एक तरह की आंशिक वर्क परमीशन होती है।

PunjabKesari


रिकॉर्ड नंबर पर वीजा हुए जारी

अमरीकी दूतावास का कहना है कि जून- अगस्त 2023 के दौरान सभी श्रेणियों में 95269 भारतीय छात्रों को वीजा जारी किए। ये अपने आप में एक रिकॉर्ड है।  भारतीय स्नातक छात्रों की संख्या 63 प्रतिशत बढ़कर 1,65,936 हो गई। यह पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 64 हजार छात्रों की वृद्धि है जबकि भारतीय स्नातक छात्रों की संख्या में भी 16 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इसमें 2022 के मुकाबले 18 फीसद का उछाल आया है। अमेरीकी राजदूत एरिका गारसेटी ने इसके लिए भारतीय परिजनों को धन्यवाद कहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Charanjeet Kaur

Recommended News

Related News

static