दर्द, तनाव और मूड स्विंग से निकलकर Masoom Minawala ने प्रेगनेंसी पीरियड को यूं किया एंजॉय

punjabkesari.in Thursday, Feb 02, 2023 - 06:37 PM (IST)

मशहूर फैशन इन्फ्लुएंसर मासूम मीनावाला को आज कौन नहीं जानता। इस इंडियन फैशन ब्लॉगर ने कुछ ही समय में  इंडस्ट्री में अपनी मजबूत इमेज बना ली है। हाल ही में एक प्यारे से बेटे की मां बनी मासूम अपने प्रेगनेंसी पीरियड के दौरान भी लोगों के साथ जुड़ी रही। इस दौरान उनका मैटर्निटी स्टाइल और प्रेगनेंसी लुक्स भी टॉप पर रहा साथ हीउन्होंने इस धारणा को भी बदल दिया कि मां बनने के बाद  महिलाओं का करियर खत्म हो जाता है।

PunjabKesari
शुरुआत के 30 दिन रहे मुश्किलों भरे

ऐसा नहीं है कि प्रेगनेंसी के दौरान मासूम को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ा लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने खाने- पीने से लेकर रहने- सहने का भी खूब ख्याल रखा। वह बताती हैं कि शुरुआत के 30 दिन उनके लिए मुश्किलों भरे रहे, पर जैसे-जैसे दिन बीतते गए वह फिर से अपनी दिनचर्या में लौट आई। इसके लिए समय पर खाने का ध्यान रखा, आराम करने का समय तय किया,  संतुलित मूड बनाए रखा- इन्हीं सब चीजों ने उनकी  प्रेग्‍नेंसी जर्नी को यादगार बना दिया।

PunjabKesari
स्किन का रखा खास ख्याल

मासूम मीनावाला ने अपनी स्किन को हमेशा खिला-खिला रखने के लिए महंगे प्रॉडक्ट्स की बजाय किचन में मौजूद साधारण सी चीजों पर विश्वाश किया। वह कहती हैं कि "मैंने इस बात का खास ख्याल रखा कि सोने से पहले मेरा चेहरा पूरी तरह से साफ हो, मैं घर का बना फेस मास्क ही लगाती थी"।  दरअसल  कैम‍िकल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल होने वाले बच्‍चे को नुकसान पहुंचा सकता है। इसल‍िए  प्रेगनेंसी में हार्मफुल कैम‍िकल से बनी क्रीम, लोशन, शैम्‍पू, ड‍ीयो आद‍ि का इस्‍तेमाल नहीं करने की सलाह दी जाती है। 

PunjabKesari
गर्भावस्था में अपने शरीर का करें सम्मान 

मासूम मीनावाला का मानना है कि  गर्भावस्था जीवन का वह समय होता है जब आप  अपने शरीर को पहले से कहीं अधिक महत्व देते हैं, उसका सम्मान करते हैं।  इस समय महिलाओं को शारीरिक के साथ मानसिक तौर पर भी सेहतमंद रहना बहुत आवश्यक होता है। अपनी शारीरिक सेहत के साथ- साथ्र मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए मासूम ने योग का भी सहारा लिया। वह बताती हैं कि- "जब भी मुझे काम से कोई बुलावा आता था, तो मैं अपना काम शुरू कर देती थी। इन चीजों ने वास्तव में मुझे अपनी ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद की और किसी भी दर्द और पीड़ा को कम किया जिसका मैं सामना कर रही थी,”। 

PunjabKesari
मासूम मीनावाला ने अपने काम पर दिया ध्यान

मां बनने वाली महिलाओं को अकसर कई तरह की सलाह दी जाती है कि लेकिन फैशन इन्फ्लुएंसर ने इसी बात का ध्यान रखा कि गर्भावस्था के दौरान उनकी मानसिक स्थिति का उनके बच्चे पर गहरा प्रभाव ना पड़े। इस सब से बचने के लिए उन्होंने काम पर ध्यान दिया, परिवार वालों और दोस्तों के साथ  ज्यादा से ज्यादा समय बिताया। मासूम का कहना है कि "डांस करना मुझे बेहद स्कून देता है, ऐसे में मैंने वो ही किया जो मुझे पसंद था"। 

 PunjabKesari
हर पल को किया एंजॉय

प्रेग्नेंसी के दौरान चिड़चिड़ापन, झुंझलाहट, वॉमिटिंग और थकान रहना सामान्य सी बात है। इस दौरान वजन बढ़ने के साथ-साथ महिला में आलस भी आ जाता है। ऐसे में मूड स्विंग यानी पल-पल में मूड बदलते रहते हैं। मासूम मीनावाला के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ, लेकिन उन्होंने हर छोटी- बड़ी चुनौतियों का सामना करके अपने प्रेगनेंसी पीरियड को खुल कर एंजॉय किया। यदि आप भी जल्द मां बनने जा रही हैं तो मासूम मीनावाला से सीख लेकर इस पल को यादगार बना सकती हैं। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Related News

Recommended News

static