फेफड़ों पर नहीं होगा प्रदूषण का असर, बस खाते रहें ये 7 आहार

11/28/2020 9:55:20 AM

प्रदूषण का स्तर रोजाना बढ़ता जा रहा है और उसी के साथ बीमारियां भी। जहरीली हवा सांस के जरिए हमारे शरीर में जाकर सिर्फ फेफड़े ही नहीं बल्कि सांस लेने में दिक्कत, दिल, किडनी व लिवर को भी नुकसान पहुंचाती है। ऐसे में प्रदूषण से बचने के लिए प्रीकॉशन लेना बहुत जरूरी है। मगर, इसके साथ ही डाइट में कुछ ऐसे फूड्स लेने भी जरूरी है, जिससे बॉडी डिटॉक्स हो सके और आप प्रदूषण के कारण होने वाले नुकसान से बचे रहें। यहां हम आपको कुछ फूड्स के बारे में बताएंगे, जो प्रदूषण के कारण होने वाले नुकसान को कम करने में मदद करेंगे।

लहसुन

एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लामेट्री लहसुन फेफड़े, किडनी को डिटॉक्स करने के साथ बीमारियों का खतरा भी कम करता है।

अदरक

आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर अदरक भी प्रदूषण के कारण होने वाले नुकसान से बचाने में मददगार है। आप भोजन में अदरक डालने के साथ चाय बनाकर भी पी सकते हैं।

तुलसी की पत्तियां

रोजाना 2-3 तुलसी की पत्तियों को चबाएं। इससे फेफड़ों में जमा गंदगी आसानी से निकल जाएगी और आप कई बीमारियों से भी बचे रहेंगे।

PunjabKesari

नट्स और बीज

बीज, अखरोट, चिया के बीज, अलसी के बीज को दही में डालकर खाएं। आप इसकी स्मूदी बनाकर भी पी सकते हैं। इससे आप वायु प्रदूषण से होने वाले हानिकारक प्रभावों से बचे रहते हैं।

ओरिगेनो

ओरिगोनों में विटामिन और पोषक तत्व हिस्टामिन को कम करते हैं जिससे फेफड़ों के जरिए ऑक्सीजन का प्रवाह आसानी से होने लगता है। 

गुड़

गुड़ प्रदूषण के साइड इफेक्ट को कम करने के साथ इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाता है। इससे ना सिर्फ फेफड़े, किडनी डिटॉक्स होते हैं बल्कि आप सर्दियों में सर्दी-खांसी से भी बचे रहते हैं।

PunjabKesari

मुलेठी

मुलेठी के एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण प्रदूषण के साइड-इफैक्ट को घटाने के साथ फेफड़ों की इंफैक्शन को दूर करता है। मुलेठी चूसने से श्वसन तंत्र साफ होता है, जिससे खराब गला खराब, सासं लेने में परेशानी की समस्या दूर होती है।

अनार

एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर अनार भी फेफड़ों में फैले विषाक्त पदार्थों को आसानी से साफ कर देता है। इसके लिए रोजाना 1 कटोरी अनार के दानें खाएं या इसका जूस पीएं।


Anjali Rajput

Recommended News