देश को गुरबचन सिंह जैसे लोगों की जरूरत...दिन में ड्यूटी शाम को नशे में डूब रहे युवाओं को देते हैं सीख

punjabkesari.in Tuesday, May 30, 2023 - 01:16 PM (IST)

पंजाब पुलिस के एक अधिकारी ने राज्य में मादक पदार्थों के खिलाफ जागरुकता पैदा करने का बीड़ा उठाया है। कपूरथला जिले में तैनात सहायक उप-निरीक्षक (एएसआई) गुरबचन सिंह काम से घर लौटने के बाद अपनी साइकिल निकालते हैं और मादक पदार्थों के खिलाफ जागरूकता बढ़ाने के लिए पास के बाजार या स्कूल चले जाते हैं।

PunjabKesari

 घर से बाहर निकलने से पहले 56 वर्षीय सिंह अपनी साइकिल से जुड़ी एक लोहे की प्लेट पर लोगों को मादक पदार्थों के इस्तेमाल के खिलाफ चेतावनी देते हुए एक संदेश लिखते हैं, जैसे ‘‘नशेयां नाल शरीर बर्बाद करन वाले आत्मघाती हुंदे ने'' यानी मादक पदार्थ का सेवन करने वाले आत्मघाती होते हैं। सिंह ने कहा, “मैं कुछ शब्दों में बड़ा संदेश देने का प्रयास कर रहा हूं।” 

PunjabKesari
ASI का कहना है- "इस प्रयास के पीछे मेरा विचार मादक पदार्थों के इस्तेमाल के खिलाफ जागरूकता फैलाना है। अगर बच्चों को मादक पदार्थों के हानिकारक प्रभावों के बारे में बताया जाएगा, तो वे भटकेंगे नहीं।" साइकिल चलाने के शौकीन सिंह ने कहा- "ड्यूटी खत्म करने के बाद मैं अपने घर से अपनी साइकिल लेता हूं और बाजार या स्कूल जाकर लोगों को अच्छे स्वास्थ्य के महत्व के बारे में बताता हूं।” सिंह जब हलचल भरी और व्यस्त सड़कों से गुजरते हैं तो राहगीर उन्हें उत्सुकता भरी नजरों से देखने लगते हैं। कई लोग उनके प्रयासों का स्वागत करते हैं।

PunjabKesari

 सिंह अपने पास आने वालों को परामर्श भी देते हैं। एएसआई ने कहा कि अगर उन्हें कोई ऐसा मजदूर मिलता है जो धूम्रपान करता है, तो वह उसे तंबाकू से शरीर पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभावों के बारे में बताते हैं। सिंह पर्यावरण से संबंधित मुद्दों पर भी प्रकाश डालते हैं और अपने संदेशों के माध्यम से लोगों से पानी बचाने का आग्रह करते हैं। सिंह ने कहा- "सामाजिक मुद्दों पर लोगों में जागरूकता पैदा करना मेरा जुनून है।" उन्होंने कहा कि 1994-95 में उन्होंने शांति का संदेश फैलाने के लिए कश्मीर से कन्याकुमारी तक करीब 25,000 किलोमीटर की यात्रा की थी।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

static