आयुर्वेद के नियम और परहेज, बड़ी से बड़ी बीमारियां छू भी नहीं पाएगी

punjabkesari.in Friday, Sep 11, 2020 - 05:23 PM (IST)

आयुर्वेद, एक ऐसी चिकित्सक प्रणाली जिसका इस्तेमाल सदियो से किया जा रहा है। इस पद्धति में गंभीर रोगों का भी इलाज निकल सकता है बशर्ते उपचार आयुर्वेद के नियमों को देखकर ही किया जाए तो। आयुर्वेदिक औषधियां जिनका कोई साइड इफैक्ट भी नहीं होता। इस पद्धति के नियम और परहेज अगर आपने फॉलो कर लिए तो कोई बीमारी आपको छू भी नहीं पाएगी। चलिए आज वहीं नियम आपको बताते हैं...

सबसे पहले सुबह जल्दी उठें

पहला नियम, सूर्योदय से पहले बिस्तर छोड़ दें। आयुर्वेद के अनुसार, सूर्योदय के समय वातावरण एकदम शुद्ध व निर्मल होता है जो आपके शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। इससे आपको ताजगी मिलती है।

PunjabKesari

नित्य क्रिया बहुत जरूरी

-सुबह उठते ही सबसे पहले मल-मूत्र का त्याग करें इससे आपके अंदर के सारे विषैले पदार्थ निकल जाते हैं। आप ताजगी व हल्कापन महसूस करते हैं।

-आयुर्वेद के अनुसार, सुबह खाली पेट 2 से 3 गिलास पानी पीएं। इससे हाई बीपी, कब्ज, अपच, आंखों के रोग और मोटापा से आपका छुटकारा रहता है।

योगासन-प्राणायाम करना ना भूलें

रोजाना कम से कम 30 मिनट योगासन या प्राणायाम के लिए निकालें। इससे आप स्वस्थ रहेंगे। आप हल्की फुल्की सैर व व्यायाम भी कर सकते हैं।

शरीर की मालिश

रोजाना सरसों नारियल या अन्य किसी औषधीए तेल से शरीर की 15 मिनट मालिश जरूर करें। इससे आपकी हड्डियां भी मजबूत होगी और शरीर की सारी थकान भी दूर होगी। अगर आप रोजाना ऐसा नहीं कर सकते तो हफ्ते में 2 बार तो मसाज जरूर करें।

PunjabKesari

इसके अलावा जो नियम आयुर्वेद में बताए गए हैं वो ऐसे हैं,,,

1. दिन में करीब 3 से 4 लीटर पानी जरूर पीएं लेकिन सोने के समय यानि रात को ज्यादा पानी ना पीएं।

2. सुबह उठने के एक से 2 घंटे के भीतर नाश्ता कर लें। खाना पौष्टिक होना बहुत जरूरी है कोशिश करें कि नाश्ता 7 से 9 के बीच कर लें ऐसा करने से शरीर में सारा दिन एनर्जी बनी रहती है।  

3. भोजन खाने के तुरंत बाद ही पानी ना पीएं क्योंकि इससे खाना पचता नहीं है। आधे से पौने घंटे का अंतर रखें।

4. भोजन करने के तुरंत बाद ही स्नान या ज्यादा परिश्रम वाला काम ना करें।

5. सर्दी हो या गर्मी, रोजाना 10 से 20 मिनट धूप में बैठना बहुत जरूरी है। इससे शरीर को विटामिन डी मिलता है और हड्डियां मजबूत होती हैं। धूप सुबह की ताजी हो सबसे अच्छा।

6. 8 से 9 घंटे की अच्छी नींद।  सोने से पहले ठंडे पानी से हाथ-पैरों को धोना चाहिए, इससे नींद अच्छी आती है।

PunjabKesari

अब जानिए आयुर्वेद के परहेज

आयुर्वेद के अनुसार,

1. दूध के साथ फल का सेवन  नहीं करना चाहिए।
2. आयुर्वेदिक औषधि का इस्तेमाल कर रहे हैं तो मसालेदार व खट्टी चीजों से परहेज रखें।
3. फ्रिज का ठंडा पानी ना पीएं। कभी ठंडी या गर्म चीज एक साथ ना खाएं।
4. दूध के साथ नमक वाली चीज का सेवन ना करें। चाय कॉफी का सेवन करने से परहेज रखें।
5. आयुर्वेद के अनुसार, किसी भी दवा, जड़ी-बूटी या अन्य चीज़ का अत्यधिक सेवन ना करें।
6. कोई भी काढ़ा तैयार किया तो इसे 12 घंटे से ज्यादा ना रखें।

अगर आप इन नियमों और बताए परहेज का पूरा पालन करते हैं तो लंबी उम्र तक आप बीमारियों से बचे रहते हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vandana

Related News

Recommended News

static