निर्मला सीतारमण: जानिए आर्थिक पैकेज से किसे मिलेगा कितना फायदा

5/13/2020 5:34:01 PM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया था, जिसके बारे में आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए विस्तार से बताया। उन्होंने एमएसएमई यानी सुक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योग के लिए 6 बड़े ऐलान किए। साथ ही उन्होंने सरकारी योजनाओं (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर, माइक्रो इंश्योरेंस स्कीम, पीएम आवास योजना, पीएम उज्ज्वला योजना) के जरिए गरीबों और किसानों तक राहत के बारे में भी खुलकर बात की।

वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा, 'आत्मनिर्भर भारत के 5 पिलर हैंः इकॉनमी, इन्फ्रास्ट्रक्चर, सिस्टम, डेमोग्राफी और डिमांड'।

Finance Minister Nirmala Sitharaman press conferenceannounce ...

निर्मला ने MSMEs के लिए किए बड़े ऐलान

1. कोलेट्रेलर (गारंटी) फ्री लोन के लिए 3 लाख करोड़ का फंड रखा गया।
2. जिस MSME का टर्नओवर 100 करोड़ है वे 25 करोड़ तक लोन ले सकते हैं, जो लोन दिया जाएगा उसे चार सालों में चुकाना है। MSME को 1 साल तक EMI चुकाने से राहत मिलेगी।
3. 31 अक्टूबर, 2020 तक कोई गारंटी फीस नहीं देनी होनी। 45 लाख MSME इकाइयों को सरकार की इस घोषणा से लाभ होगा।
4. फंड्स ऑफ फंड का ऐलान करने के साथ अच्छा काम करने वाले एमएसएमई को बढ़ावा दिया जाएगा।
6. एमएसएमई परिभाषा को बदला जाएगा और निवेश सीमा का दायरा बढ़ाया जाएगा। अब इसमें दायरे में अधिक से अधिक सुक्ष्म तथा लघु उद्योग आ सकेंगे। मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस की अलग श्रेणी होगी।
7. संकट में फंसे 2 लाख एमएसएमई को कर्ज के लिए 20,000 करोड़ रुपये
8. 10 करोड़ तक का निवेश और 50 करोड़ के टर्नओवर वाले इंटरप्राइज को स्मॉल यूनिट माना जाएगा, 30 करोड़ तक का निवेश और 100 करोड़ के टर्नओवर वालों को मीडियम इंटरप्राइज माना जाएगा
9. 200 करोड़ रुपये तक की सरकारी खरीद में ग्लोबल टेंडर नहीं मंगाए जाएंगे : वित्तमंत्री
10. 90 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान बिजली वितरण कंपनियों के लिए किया गया है।

PSU banks sanction ₹5.95 trillion loans in just over 2 months ...

वित्त मंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें

पैकेज के जरिए ग्रोथ को बढ़ाना है। भारत को आत्मनिर्भर बनाना है इसलिए इसे "आत्मनिर्भर भारत अभियान" कहा जा रहा है।

. देसी ब्रांड को वैश्विक ब्रांड बनाने पर जोर दिया है। साथ ही इज ऑफ डूईंग बिजनेस पर फोकस है।
. कोविड-19 के चलते गरीब कल्याण योजना को बढ़ावा दिया गया। देश के गरीब को भूखा न रहना पड़े इसलिए 1,70,000 करोड़ का पैकेज माननीय वित्त मंत्री जी ने आपके सामने रखा था।
. पीएम मोदी ने उम्मीद से बढ़कर राहत पैकेज का ऐलान किया है।
. रिफार्म्स खेती से जुड़ी पूरी सप्लाई चेन में होंगे ,ताकि किसान भी सशक्त हो व कोरोना जैसे संकट का भविष्य में सामना कर सके। इसमें देश के विभिन्न सेक्टर में संगठित और असंगठित सेक्टर के मजदूरों के लिए भी कई बातें होंगी।
. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने स्थानीय कारोबारों को प्रोत्साहित करने की वकालत की।
. यह आर्थिक पैकेज हमारे श्रमिकों, किसानों, ईमानदार करदाताओं सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों और कुटीर उद्योगों के लिए होगा। पैकेज में भूमि, श्रम, नकदी और कानून सभी क्षेत्रों पर ध्यान दिया गया है।
. वित्त मंत्रालय ने गरीबों, बुजुर्गों और किसानों के लिये 1.74 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की थी।

Finance Minister Nirmala Sitharaman to address press conference at ...

. TDS और TCS की दरों में 25 प्रतिशत कटौती से 50 हजार करोड़ रुपए का फायदा।
. टैक्स ऑडिट की तारीख बढ़ाकर 31 अक्टूबर तक की गई।
. बिल्डर को प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए 6 महीने का समय दिया गया।
. ट्रस्ट, LLP को आयकर रिफंड तुरंत दिया जाएगा।


Anjali Rajput

Related News