बर्तन भी बनते हैं घर में दुर्भाग्य की वजह, जानिए इनसे जुड़े वास्तु टिप्स

9/13/2019 6:18:27 PM

व्यक्ति के जीवन में वास्तु का अहम रोल माना जाता है क्योंकि जहां वास्तु दोष जीवन पर बुरा प्रभाव डालते हैं, वहीं सही वास्तु सफलता दिलाने में मदद करते हैं। बात अगर किचन में रखें बर्तनों की करें तो वास्तु के अनुसार, ये भी व्यक्ति के जीवन में आने वाली बाधाओं का कारण बन सकते हैं। क्या आपके घर में भी दुर्भाग्य बार-बार दस्तक दे रहा है या रोज लड़ाई-झगड़े होते है? अगर हां, तो इसमें इसमें बर्तनों से जुड़ा वास्तु दोष हो सकता है। चलिए जानते हैं इन्हें दूर करने के उपाय। 

पहला उपाय

अगर आपके घर में दुर्भाग्य बार-बार दस्तक देता है और आपको इसकी वजह समझ नहीं आ रही तो घर के प्रवेश द्वार से आपकी रसोई का चुल्हा नही दिखना चाहिए। अगर आपकी किचन ना चाहते हुए भी मुख्य द्वार के सामने बनवानी पड़ी हैं तो रसोई के सामने मोटा पर्दा लगवा दें। 

PunjabKesari

दूसरा उपाय 

अधितर महिलाएं टूटी हुई क्रॉकरी या बर्तन को फेंकने के बजाए किचन के किसी कोने में रख देती है जोकि गलत है। रसोईघर में रखी टूटी हुई क्रॉकरी या बर्तन दुर्भाग्य की निशानी है। इसलिए इन्हें तुरंत निकाल फेंके क्योंकि यह भी कलह-कलेश की वजह बनते हैं।  

तीसरा उपाय 

घर में कलह-कलेश को दूर रखने के लिए घर की रसोई के वास्तु दोष मिटाने के लिए एक तांबे का कलश लें और उसमें पंचररत्न को डालकर किचन की ईशान कोण दिशा यानी नॉर्थ ईस्ट में रखें। इससे घर में शांति का महौल बना रहेगा।

PunjabKesari
 
चौथा उपाय

राशन को कभी किचन में बिखेर कर न रखे, खासकर आटा और चावल। इसके अलावा राशन डालने के लिए प्लास्टिक के बजाएं स्टिल या मेटल के कंटेनर का इस्तेमाल करें। इससे परिवार में संपन्नता बनी रहेगी। 

पांचवा उपाय

पीतल रजोगुणवर्धक है इसलिए पीतल के बर्तन में अन्न पकाने से ना सिर्फ स्वास्थ्य ठीक रहता है बल्कि कई किचन वास्तु दोष भी दूर रहते हैं जिससे घर में धन-समृद्धि बनी रहती हैं। इसके अलावा पूजा के उपकरणों में तांबे-पीतल के बर्तनों का इस्तेमाल करें। 


 


Sunita Rajput

Related News