शादी के बाद महिलाओं को रहता है इन बातों का डर

Tuesday, September 5, 2017 3:04 PM
शादी के बाद महिलाओं को रहता है इन बातों का डर

शादी के बाद लड़कियां खुद को हर तरफ से एकदम सुरक्षित समझती है। वैसे तो पति-पत्नी का विश्वास और प्यार पर टिका होता है लेकिन जरा सा शक इस रिश्ते में दरार ला सकता है। इसी के साथ एक महिला के लिए अपने आसुरक्षा की भावना पैदा कर सकता है। ज्यादातर महिलाएं इसी डर को लेकर अपनी शादीशुदा जिदगी बिता रही होती है। उनके मन हमेशा कई बातों को लेकर डर बना रहता है। आइए जानते है कि शादी के बाद महिलाओं को कौन सा डर सता रहा होता है। 

 

नापसपंद 

PunjabKesari
अधिकतर महिलाओं को शादी के बाद डर लगा होता है कि कहीं उनका पति शादी के 4-5 साल बाद उसे नापसंद न कर दें। मेरे खूबसूरती या फिटनेस में उसे कोई कमी न नजर आने लगे। इसलिए वह खुद को मेनटेन ऱखना शुरू कर देती है। 

परिवार की सेहत

शादी के बाद औरतों को हमेशा परिवार की सेहत की चिंता लगी रहती है। इसी के साथ उसे अपनी सेहत की फिक्र भी होती है कि कहीं कोई बीमारी उसे न घेर लें। इन्हीं चिंताओं में औरत की जिंदगी गुजर जाती है। 

रिश्तो में दरार
अपने शादी शुदा रिश्ते के साथ उसे अपने बाकी की रिश्तों का डर भी सताता रहता है। उसे लगता है कि कहीं कोई गलती न हो जाए जिससे रिश्तों में हमेशा के लिए कड़वहाट पैदा हो जाएं। सारी जिंदगी रिश्तों के संवारने में लगी रहती है। 

अकेलापन
भले ही लड़की को शादी के बाद जिंदगी र के लिए साथी मिल जाता है लेकिन ससुराल के साथ अलग हो जाए और पति भी साथ न दें तो अकेलेपन का डर लगा रहता है। 

भरोसा
भरोसा पर सभी रिश्ते टिके होते है।शादी के बाद महिला को इस बात का डर भी लगा रहता है कि ससुराल वाले के दिल में वह अपने लिए भरोसा बना भी पाएगी या नहीं। कहीं वह मुझे गलत समझकर गुस्सा रहने लगें। 


 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !